Monday , December 18 2017

उस्मानिया जनरल हॉस्पिटल की मरम्मत-ओ-दरूस्तगी से कई साल बरक़रार रखा जा सकता है

हैदराबाद 15 अगस्त:इंटेक हेरिटेज कमेटी ने उस्मानिया जनरल हॉस्पिटल के दौरे और तफ़सीली मुआइने के बाद इस मौक़िफ़ पर पहुंची है के हुकूमत की तरफ से उस्मानिया दवाख़ाना की क़दीम इमारत की कई बरसों से ठीक देख-भाल ना करने की वजहा से दवाख़ाने की हेरिटेज इमारत को शदीद नुक़्सान पहुंचा है ताहम कमेटी के ज़िम्मादारान ने इस बात का इद्दिआ किया हैके हॉस्पिटल की मौजूदा इमारत को फ़िलहाल कोई ख़तरा लाहक़ नहीं है बल्कि उसकी तज़न नौ और मरम्मत की जाएगी तो बरसों तक इस इमारत को बरक़रार रखा जा सकता है।
इंटेक ग्रेटर हैदराबाद कनोनीर श्रीमती अनुराधा रेड्डी मुआविन कनोनीर सज्जाद शाहिद इंजीनियर आर्किटेक्ट एस पी अनचोरी ने यहां न्यू प्रेस कलब सोमाजीगुड़ा में इंटेक के ज़ेर-ए-एहतेमाम माहिरीन तामीरात की तरफ से दवाख़ाना उस्मानिया की क़दीम इमारत का दौरा और तफ़सीली मुआइना करने के बाद तैयार करदा रिपोर्ट की पीशकशी के मौके पर मुनाक़िदा प्रेस कांफ्रेंस से मुख़ातिब थे।

इस मौके पर कि इंटेक के क़ौमी क़ाइद प्रिन्सिअल डायरेक्टर अरकालोजी हेरिटेज की तैयार करदा रिपोर्ट के बमूजब दवाख़ाना उस्मानिया की क़दीम इमारत की पहली और दूसरी मंज़िल के बैत उल-ख़ला निहायत मख़दूश हो गए हैं जिसके सबब वहां पर पाँच ता छः इंच गंदा पानी जमा हो गया है और पानी की निकासी के बेहतर इंतेज़ामात ना होने की वजहा से पानी छत और दीवारों में दाख़िल हो रहा है।

इंटेक के क़ाइदीन ने बताया कि इमारत के बरसाती और डरेंज लाइंस पूरी तरह खराब हो गए हैं जिनकी बरसों से मरम्मत नहीं की गई उस के अलावा इमारत के छत के कुछ हिस्सा भी खराब हैं जो ना सिर्फ हैरानकुन है बल्कि उस का मुशाहिदा करने के बाद हम इस नतीजे पर पहुंचे हैके किसी मुफ़ादात हासिला के लिए इमारत के इन हिस्सों को जान-बूझ कर खराब किया गया है।

इंटेक क़ाइदीन ने इस बात का भी इन्किशाफ़ किया कि पिछले कई बरसों से इमारत के ड्र‌नीज सिस्टम और बरसाती नालों की किसी भी किस्म की कोई मरम्मत नहींकी गई जो कि उस्मानिया दवाख़ाना की क़दीम इमारत के लिए नुक़्सानदेह साबित हो रहा है।इंटेक कमेटी के ज़िम्मेदारान ने अपने दौरे पर मुश्तमिल रिपोर्ट के हवाले से ये भी दावा किया हैके हॉस्पिटल की इमारत को कई बरसों से तामीरो मरम्मत और आहक पाशी से महरूम रखा गया जिसके बाइस इस तरह की सूरत-ए-हाल पैदा हो गई है।

इंटेक ग्रेटर हैदराबाद क़ाइदीन ने हुकूमत को तजवीज़ पेश की के वो इमारत को मुनहदिम करने के बजाये मरम्मत करें जिससे उसकी असली हालत बरक़रार रहेगी और मुस्तक़बिल में किसी किस्म का कोई ख़तरा लाहक़ नहीं होगा।कमेटी के ओहदेदारों का कहना हैके हैदराबाद दक्कन चूँकि एक तारीख़ी शहर है यहां के तारीख़ी व क़दीम इमारतें जोकि मुनफ़रद तर्ज़ तामीर पर मुश्तमिल हैं साल सैंकड़ों सय्याह इन इमारतों का मुशाहिदा करते हैं इस के अलावा उन्होंने बताया कि इंटेक कमेटी ना सिर्फ हिन्दुस्तान के तारीख़ी इमारतों बल्कि बैरून-ए-मुमालिक की तारीख़ी इमारतों की बरक़रारी के लिए वो जायज़ा लेने के बाद तजावीज़ पेश करती है।

इंटेक के क़ाइदीन ने खु़फ़ीया एजंडे के तहत दवाख़ाना उस्मानिया की क़दीम इमारत को ख़स्ता-हाल बनाए जाने के तमाम ख़दशात की भी तहक़ीक़ात का हुकूमत से मुतालिबा किया।

TOPPOPULARRECENT