Saturday , July 21 2018

उस्मानिया यूनीवर्सिटी में बीफ फ़ेस्टीवल, तशद्दुद के वाक़ियात

जामिआ उस्मानिया में आज गाय के गोश्त से तैय्यार करदा मुख़्तलिफ़ अशीया के पकवान के ज़रीया बीफ फ़ेस्टीवल का इनइक़ाद अमल में आया। इस फ़ेस्टीवल के दौरान पुर तशद्दुद वाक़ियात पेश आए जिस के नतीजा में पुलिस ने आँसू गैस शैल बरसाए और लाठ

जामिआ उस्मानिया में आज गाय के गोश्त से तैय्यार करदा मुख़्तलिफ़ अशीया के पकवान के ज़रीया बीफ फ़ेस्टीवल का इनइक़ाद अमल में आया। इस फ़ेस्टीवल के दौरान पुर तशद्दुद वाक़ियात पेश आए जिस के नतीजा में पुलिस ने आँसू गैस शैल बरसाए और लाठी चार्ज भी किया । मुख़्तलिफ़ तलबा-तंज़ीमों की जानिबसे मुनाक़िदा इस बीफ फ़ेस्टीवल में यूनीवर्सिटी प्रोफेसर्स, लेक्चररस के इलावा तलबा की कसीर तादाद ने शिरकत करते हुए उसे बड़े पैमाने पर कामयाब बनाया,

लेकिन मुवाफ़िक़ और मुख़ालिफ़ बीफ फ़ेस्टीवल तलबा तंज़ीमों के दरमयान तसादुम हुवा और मुवाफ़िक़ फ़ेस्टीवल तलबाने अखिल भारतीय वधयारती परिषद के एहितजाजी तलबाको रोकते हुए लाठियों के साथ ढाल बन कर इस फ़ेस्टीवल को नाकाम बनाने की कोशिशों करने वालों को पीछे ढकेल दिया । एहितजाजी ए बीवी पी के कारकुनों ने यूनीवर्सिटी में मौजूद मीडीया की दो कारों को आग लगादी और वहां से गुज़रने वाली गाड़ीयों पर संगबारी भी की ।दोनों जानिब से ज़बरदस्त संगबारी के तबादले देखे गए जिस के बाद पुलिस ने एहितजाजियों पर लाठी चार्ज किया और उन्हें मुंतशिर करने के लिए आँसू ग़ियास के शॅल बरसाए ।

एहितजाजियों ने यूनीवर्सिटी के स्टरीट लाईट पर भी संगबारी करते हुए इलाक़ा में तारीकी करदी । इस फ़ेस्टीवल के मौक़ा पर पुलिस ने सिक्योरिटी के इंतिज़ामात किए थे लेकिन ए बीवी पी की जानिब से कसीर तादाद में कारकुनों का जमा होना और फिर तशद्दुद वाक़ियात में मुलव्वस होने के सबब पुलिस को हालात पर फ़ौरी क़ाबू पाने में दुशवारी हुई लेकिन चंद घंटों के बाद भारी पुलिस फ़ोर्स को यूनीवर्सिटी के अहाता में मुतय्यन करदिया गया जिस के बाद हालात क़ाबू में आगए ।

उस्मानिया यूनीवर्सिटी पुलिस ने इस सिलसिला में मुक़द्दमात दर्ज किए है । गुज़श्ता बरस एफ़लो में गाय के गोश्त के पकवान पर एतराज़ करते हुए हंगामा आराई करने वाले ए बीवी पी कारकुनों के नज़रिया को यूनीवर्सिटी से ख़त्म करने के मक़सद से मुख़्तलिफ़ तलबा तंज़ीमों टी ऐस ऐस वी , पी डी एसयू , ऐस एफ़ आई , ए आई ऐस एफ़ , टी आर ऐस वी के इलावा दीगर बाएं बाज़ू तंज़ीमों की हिमायत से बीफ फ़ेस्टीवल का इनइक़ाद अमल में लाते हुए ये पैग़ाम देने की कोशिश की गई कि बीफ, कल्चर का एक हिस्सा है,

उसे खाने से कोई किसी को नहीं रोक सकता। गुज़श्ता चंद दिनों से तलबा तंज़ीमों पर बीफ फ़ेस्टीवल की तंसीख़ के लिए दबाउ डाला जा रहा था लेकिन तलबाने दबाउ को क़बूल करने के बजाय बीफ फ़ेस्टीवल के इनइक़ाद में ज़बरदस्त जोश-ओ-ख़ुरोश का मुज़ाहरा करते हुए यूनीवर्सिटी में गाय के गोश्त के अलैहदा अलैहदा पकवान किए जिस से शुरका की तवाज़ो की गई। तलबातंज़ीमों के क़ाइदीन ने बताया कि गाय के गोश्त के इस्तिमाल को तर्क करने के लिए दबाउ डालना दरुस्त नहीं है।

बाअज़ शर पसंद अनासिर गाय के गोश्त की आड़ में नफ़रत फैलाने की कोशिशों में मसरूफ़ हैं, लेकिन दलित तलबा एससी , एसटी तलबा की जानिब से मख़सूस तबक़ा की जानिब से गाय के गोश्त के मौज़ू पर की जाने वाली हंगामा आराई के ख़िलाफ़ हैं। बीफ फ़ेस्टीवल में शरीक प्रोफेसर्स , लेक्चररस ने बताया कि यूनीवर्सिटी के माहौल को परागंदा करने के लिए मुनज़्ज़म साज़िश की जा रही है,

जबकि तलबाकी अक्सरीयत इस मसला पर मुत्तहिद है और गाय के गोश्त को न्यूट्रीशन से भरपूर क़रार देते हुए इस के इस्तिमाल में कमी ना करने का तहय्या किए हुए है। प्रोफ़ैसर पी एल विश़्वेश़्वर राउ , प्रोफ़ैसर समहारदरी , प्रोफ़ैसर मुहम्मद अंसारी, प्रोफ़ैसर जी विनोद कुमार के इलावा दीगर लेक्चररस-ओ-प्रोफेसर्स ने बीफ फ़ेस्टीवल में शिरकत करते हुए उसे कामयाब बनाया।

भारतीय जनता पार्टी की तलबा तंज़ीम ए बीवी पी की जानिब से बीफ फ़ेस्टीवल के ख़िलाफ़ मुज़ाहरा को तलबा तंज़ीमों ने गै़र ज़रूरी और तहज़ीब में मुदाख़िलत क़रार देते हुए कहा कि ए बीवी पी क़ाइदीन, यूनीवर्सिटी हॉस्टलस में गणेश की मूर्ती नसब करते हुए पूजा मुनाक़िद करते हैं जिस पर दीगर तलबा एतराज़ नहीं करते, इसी तरह ए बीवी पी क़ाइदीन को भी बीफ फ़ेस्टीवल पर एतराज़ नहीं करना चाहीए।

TOPPOPULARRECENT