Thursday , December 14 2017

ऊंची ज़ात के अफ़राद ग़ैर मुल्की, मांझी के तबसेरा पर बी जे पी बरहम

एक और तनाज़ा खड़ा करते हुए चीफ़ मिनिस्टर बिहार जतिन राम मांझी ने आज ऊंची ज़ात के अफ़राद को ग़ैर मुल्की और आर्या नसल की औलाद क़रार दिया। मांझी ने कल रात बेटिया में एक तक़रीब से ख़िताब करते हुए कहा कि ये लोग बैरूनी ममालिक से हिन्दुस्तान आए थ

एक और तनाज़ा खड़ा करते हुए चीफ़ मिनिस्टर बिहार जतिन राम मांझी ने आज ऊंची ज़ात के अफ़राद को ग़ैर मुल्की और आर्या नसल की औलाद क़रार दिया। मांझी ने कल रात बेटिया में एक तक़रीब से ख़िताब करते हुए कहा कि ये लोग बैरूनी ममालिक से हिन्दुस्तान आए थे। सिर्फ़ कबायली और दलित मुक़ामी अफ़राद हैं।

चीफ़ मिनिस्टर बिहार ने ये दावा करते हुए रोक दिया कि अपने आप को तालीम-ए-याफ़ता बनाने और अपना सियासी शऊर बेदार करें ताकि बिहार में हुकूमतें क़ायम करने में पसमांदा तबक़ात अहम ख़िदमात अदा करसकें। दरीं असना मांझी के तबसेरा पर अपोज़िशन बी जे पी और इस के सीनियर क़ाइद सुशील कुमार मोदी ने सख़्त तन्क़ीद करते हुए कहा कि चीफ़ मिनिस्टर रियासत में ज़ात पात की बुनियाद पर कशीदगी पैदा कररहे हैं।

उन्होंने कहा कि मांझी का तबसेरा सब से पहले अवाम को समाजी बुनियादों पर तक़सीम करने की कोशिश है। उन्होंने क़ब्लअज़ीं इल्ज़ाम आइद किया थाकि ज़िला मधोबनी में उन के साथ तास्सुब बरता गया है और उनकी एक मंदिर में हाज़िरी के बाद उसे धोकर पाक किया गया है।

चीफ़ मिनिस्टर के इल्ज़ामात अभी तक साबित नहीं होसके क्योंकि दो वुज़रा और मेज़बान जी डीयू क़ाइदीन उन के साथ मंदिर गए थे लेकिन उन्होंने समाजी बुनियाद पर उन्हें मुतास्सिर करने की किसी भी कोशिश का तज़किरा नहीं किया। ख़ुद मांझी ने इस वाक़िया की आला सतही तहक़ीक़ात का हुक्म दिया है।

TOPPOPULARRECENT