ऊना कांड के पीड़ितों का फ़ैसला, छोड़ेंगे हिंदू धर्म

ऊना कांड के पीड़ितों का फ़ैसला, छोड़ेंगे हिंदू धर्म

2 साल पहले हुए ऊना कांड के  पीड़ितों ने हिंदू धर्म छोड़ने का फ़ैसलाकिया है। ऊना कांड के एक पीड़ित वशराम सर्वइया का कहना है कि सिर्फ वो ही लोग बौद्ध धर्म नहीं अपना रहे हैं, बल्कि वह अत्याचार के शिकार बाकी लोगों को भी हिंदू धर्म छोड़कर बौद्ध धर्म अपनाने को कहेंगे।

इनमें साल 2012 में थानगढ़ में मारे गए लोगों के रिश्तेदार भी शामिल हैं। बता दें कि साल 2016 के जुलाई माह में वशराम, उसके भाईयों रमेश, अशोक और बेचार को कथित गौरक्षकों ने बंधक बनाकर अर्द्धनग्न हालत में बुरी तरह से पीटा था।

इस घटना के बाद देश में बवाल हो गया था और गुजरात में दलित मूवमेंट को बढ़ाने में यह घटना अहम वजह बनी थी।

 

Top Stories