Tuesday , December 19 2017

एक और स्कूली तालिब-ए-इल्म को पेशाब पीने केलिए मजबूर करने का इल्ज़ाम

शांति निकेतन में कमसिन तालिबा को ख़ुद इस का पेशाब पिलाने के शर्मनाक वाक़िया के चंद दिन भी नहीं गुज़रे कि पैर अम्बा लिवर के एक ख़ानगी स्कूल के 14 साला तालिब-ए-इल्म को इस वक़्त मुबय्यना तौर पर ख़ुद इस का पेशाब पीने पर मजबूर किया गया जब इस ने बैत उल-ख़ला जाने केलिए टीचर से इजाज़त की दरख़ास्त की।

लड़के के माँ बाप ने दावा किया कि तलबा एक दरख़्त के साय में बैठे थे कि उन्हें क्लास शुरू होने के बाद जल्द पढ़ने की हिदायत की गई थी कि लड़के ने बैत उल-ख़ला जाने केलिए इजाज़त की दरख़ास्त की जिस पर वहां मौजूद तीन टीचरों ने इस लड़के को पहले को बैत उल-ख़ला जाने की इजाज़त देने से इनकार करदिया।

ये लड़का इजाज़त केलिए टीचर्स से मुसलसल इसरार कररहा था। टीचरों ने इस को दरख़्त के क़रीब पेशाब करने और पेशाब पीने केलिए कहा। बादअज़ां उस लड़के की पिटाई भी की गई। लड़के के वालदैन दीनकोराजन और पवन गोड ने ये तफ़सीलात ब्यान करते हुए मज़ीद कहा कि अपने साथ टीचरों के नाज़ेबा सुलूक से मायूस लड़का स्कूल से फ़रार होकर कमबाकनम के क़रीब वाक़िया अपने आबाई गाव‌ शोनमलाती पहूँचा है जहां उस को सरकारी हॉस्पिटल में शरीक करदिया गया है लेकिन इस के माँ बाप ने कल पेश आए इस वाक़िया को हनूज़ पुलिस में शिकायत दर्ज नहीं करवाई है।

इस के बावजूद अगारम सिक्योर सीरोमलारर हाई स्कूल के इंतेज़ामीया ने अपने तालिब-ए-इल्म को क़ारूरा नोशी केलिए मजबूर करने के इल्ज़ाम की तरदीद की ताहम कहा कि महिकमा जाती तहक़ीक़ात की तकमील तक मज़कूरा तीनों टीचरों को मुअत्तल रखा जाएगा। इस स्कूल के करसपावंडेंड‌ (ऐडमिनिस्ट्रेटर) मोथमामहनर सीलवीन ने टीचरों की मुअत्तली का ऐलान करते हुए कहा कि ये तालिब-ए-इल्म अपने साथ मख़सूस किस्म का तंबाकू लाया था जिस में कुछ दवा मिलाई हुई थी और क्लास में बैठ कर मुसलसल तंबाकू चबा रहा था जिस पर टीचर ने सिर्फ ख़बरदार किया था लेकिन कभी भी इस तालिब-ए-इल्म को ख़ुद इस का ही पेशाब पीने केलिए मजबूर नहीं किया गया।

TOPPOPULARRECENT