Sunday , November 19 2017
Home / India / एक भिखारी की मेहनत लायी रंग, कैंब्रिज यूनिवर्सिटी में हुआ दाख़िला

एक भिखारी की मेहनत लायी रंग, कैंब्रिज यूनिवर्सिटी में हुआ दाख़िला

चेन्नई: इंसान की मेहनत क्या कर सकती है इसका नमूना हैं चेन्नई के जयावेल जो शहर की सड़कों पर भीक मांगते मांगते पढ़ाई कर रहे थे और उनकी लगन ने उन्हें ऐसा मुक़ाम दिया जो अच्छे अच्छे पैसे वालों को भी नसीब नहीं होता. 22 साल के जयावेल जिनका परिवार 1980 के दशक में ग़रीबी से परेशान होकर नेल्लोरे छोड़ने पर मजबूर हो गया और चेन्नई आ बसा लेकिन उन्हें कमाई का कोई ज़रिया ना मिल सका और सड़क पर उनका परिवार भीक मांग कर गुज़ारा करने लगा. जयावेल के पिता का इंतिक़ाल जब हुआ तब वो बहुत छोटे थे. जयावेल ने बताया कि वो फूटपाथ पर सोते थे और जब बारिश होती थी उन्हें पानी से बचने के लिए इधर उधर शेल्टर लेना पड़ता था. उनके दर्द की दास्ताँ आख़िर ख़त्म हुई और 1999 में उन्हें एक NGO ने सहारा दिया. इस मौक़े को जयावेल ने फ़ौरन भुना लिया और पढ़ाई लिखाई में अपनी रुचि को बढ़ाकर इस मुक़ाम पर पहुंचा दिया कि उन्होंने कैंब्रिज यूनिवर्सिटी के एंट्रेंस एग्जाम में कामयाब रहे.

TOPPOPULARRECENT