एग्जिट पोल पर उपराष्ट्रपति नायडू के बाद अब नितिन गडकरी ने उठाए सवाल, कहा- अंतिम निर्णय नहीं

एग्जिट पोल पर उपराष्ट्रपति नायडू के बाद अब नितिन गडकरी ने उठाए सवाल, कहा-  अंतिम निर्णय नहीं

उपराष्ट्रपति एम. वेंकैया नायडू ने रविवार को एक्जिट पोल की सटीकता पर सवाल उठाए थे और अब केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी (Nitin Gadkari) ने सोमवार को कहा कि एक्जिट पोल ‘अंतिम निर्णय’ नहीं हैं, लेकिन साथ ही उन्होंने संकेत दिया कि भारतीय जनता पार्टी (BJP)  एक फिर सत्ता में आएगी.

गडकरी ने प्रधानमंत्री की बायोपिक ‘पीएम नरेंद्र मोदी’ के नए पोस्टर के लांच के अवसर पर संवाददाताओं से बातचीत में कहा, “एक्जिट पोल ‘अंतिम निर्णय’ नहीं हैं, बल्कि संकेत करते हैं. हालांकि एक्जिट पोल में जो भी होता है, कमोबेश रिजल्ट में आता है.”

चौदह में 12 एक्जिट पोल ने राजग को 282 से 365 सीटें देते हुए पूर्ण बहुमत दिया है. लोकसभा की 543 में से 542 पर चुनाव हुए हैं, जिसमें सरकार बनाने के लिए किसी भी दल या गठबंधन के पास बहुमत का आंकड़ा 271 होना चाहिए. एक्जिट पोल ने कांग्रेसनीत संयुक्त प्रगतिशील गठबंधन को 82 से 165 सीटें दी हैं. छह एक्जिट पोल ने कहा कि अन्य पार्टियों को संप्रग से अधिक सीटें आएंगी.

भाजपा के पूर्व अध्यक्ष ने कहा कि भाजपा की नई सरकार प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नेतृत्व में गठित किया जाएगा, क्योंकि उन्हीं के नेतृत्व में चुनाव लड़ा गया था.  उनका यह बयान उपराष्ट्रपति एम. वेंकैया नायडू के बयान कि ‘एक्जिट पोल सटीक पोल नहीं हैं’ के एक दिन बाद आया है.  नायडू ने गुंटूर में अपने संबोधन में कहा था, “हमें यह समझने की जरूरत है कि वर्ष 1999 से अधिकतर एक्जिट पोल गलत साबित हुए हैं.”

उन्होंने कहा, “मतगणना के दिन तक सभी अपना आत्मविश्वास जाहिर करते हैं. लेकिन इसका आधार नहीं है. हमें 23 तक इंतजार करना होगा.” उन्होंने कहा, “देश को एक योग्य नेता और स्थिर सरकार की जरूरत है, यह कोई भी हो सकता है.”

Top Stories