Saturday , November 25 2017
Home / Sports / एथलीट प्रियंका पवार प्रतिबंधित पदार्थ के सेवन का दोषी, लगा 8 साल का प्रतिबंध

एथलीट प्रियंका पवार प्रतिबंधित पदार्थ के सेवन का दोषी, लगा 8 साल का प्रतिबंध

नई दिल्ली : एथलीट प्रियंका पवार को प्रतिबंधित पदार्थ के सेवन का दोषी पाया गया था. डोप टेस्ट में असफल होने के कारण 8 साल के लिए प्रतिबंध लगा दिया गया है. इससे पहले भी प्रियंका साल 2011 में डोपिंग टेस्ट में पॉडिटिव पाई गईं थी।प्रियंका को हैदराबाद में इंटर-स्टेट एथलेटिक्स चैम्पियनशिप में प्रतिबंधित पदार्थ के सेवन का दोषी पाया गया था। यह दूसरा मौका है जब वो डोप टेस्ट में पॉजिटिव पाई गई हैं। दरअसल प्रियंका पर 8 साल का बैन इसलिए लगाया गया क्योंकि वह दूसरी बार डोप टेस्ट में फेल हो गई हैं। साल 2014 में प्रियंका सहित पांच अन्य एथलीट एनआईएस पटिलाया में नेशनल एंटी डोपिंग एजेंसी द्वारा किए गए डोप टेस्ट एनाबोविल स्टेरॉइट के सेवन का दोषी पाया गया था। इसके बाद उनपर एक साल का प्रतिबंध लगा दिया गया था। लेकिन हाल ही में नाडा के परीक्षण में एक बार वो फिर डोपिंग की दोषी पाई गई हैं। इसलिए उनके खिलाफ ये कार्रवाई की गई है।

प्रियंका को रियो ओलिंपिक-2106 में चार गुणा 400 मीटर रिले में चुना गया था, लेकिन बाद में उन्हें टीम से बाहर कर दिया गया था. उनकी जगह अश्विनी अकुंजी को टीम में शामिल किया गया था. सूत्र ने कहा कि राष्ट्रीय डोपिंग रोधी एजेंसी (नाडा) ने उनके खिलाफ अनुशासनात्मक कार्रवाई करते हुए अपना फैसला सुनाया है. नाडा के नियम के अनुसार अगर खिलाड़ी दो बार डोपिंग में पकड़ा जाता है, तो उस पर आठ साल से लेकर अजीवन प्रतिबंध भी लगाया जा सकता है. खिलाड़ी के राष्ट्रीय और अंतराष्ट्रीय पदक तत्काल प्रभाव से जब्त कर लिए जाते हैं.

TOPPOPULARRECENT