Tuesday , January 23 2018

एदारे का फैसला होगा काबिले क़बूल : रिजवी

रांची 5 जुलाई : रमजान माह का चांद देखने को लेकर जुमेरात को हजरत कुतुबुद्दीन रिसालदार बाबा रहमतुल्लाह अलैह के मजार वाक़ेय अहाते में बैठक हुई। बैठक की सदारत हाजी मौलाना अलकम्मा सिबली ने की। बैठक का एहतेमाम एदारा शरिया के नाजिमे आला

रांची 5 जुलाई : रमजान माह का चांद देखने को लेकर जुमेरात को हजरत कुतुबुद्दीन रिसालदार बाबा रहमतुल्लाह अलैह के मजार वाक़ेय अहाते में बैठक हुई। बैठक की सदारत हाजी मौलाना अलकम्मा सिबली ने की। बैठक का एहतेमाम एदारा शरिया के नाजिमे आला मौलाना कुतुबुद्दीन रिजवी ने किया। बैठक में रमजान का चांद देखने को लेकर बहस हुई। नौ जुलाई को शाबान महीने की 29 तारीख है।

इस दिन रमजान माह का चांद नजर आने की इमकान रहती है। अगर इस दिन चांद नजर आयेगा तो उसी दिन से तराबी शुरू हो जायेगी और दस जुलाई को रमजान माह की पहली तारीख होगी। इस दिन अगर चांद नजर नहीं आया तो दस जुलाई से तराबी शुरू हो जायेगी और 11 तारीख को रमजान माह की पहली तारीख होगी।

रिजवी ने कहा कि फैसले के मुताबिक एदारे शरिया झारखंड के काजियों का जो फैसला चांद से मुताल्लिक आयेगा वह काबिले क़बूल होगा। तमाम मसजिद की कमेटियों और अंजुमनों के ओहदेदारों की बैठक आठ जुलाई को रिसालदार बाबा के अहाते में दिन के दस बजे से होगी। रमजान माह में हुकूमत से तमाम जगहों पर साफ-सफाई की खुसूसी इंतज़ाम करने की मांग की गयी। बैठक में दरगाह ट्रस्ट के सदर हाजी रउफ गद्दी, एदारा के सरपरस्त सईद, शहर काजी कारी जान मोहम्मद, हाजी मौलाना तौफिक आलम, मौलाना मंजूर मौजूद थे।

TOPPOPULARRECENT