Thursday , December 14 2017

एनकाउंटर के लिए तेलंगाना और आंध्र प्रदेश की हुकूमतें ज़िम्मेदार

दोनों रियासतों में पेश आए एनकाउंटर पर अपना रद्द-ए-अमल ज़ाहिर करते हुए माओइस्ट पार्टी ने कहा कि एनकाउंटरज़ की ज़िम्मेदार ख़ुद हुकूमतें हैं। तेलंगाना-ओ-आंध्र प्रदेश रियासती कमेटी के तर्जुमान योगेंद्र यादव ने अपने दो सफ़हात पर मुश्

दोनों रियासतों में पेश आए एनकाउंटर पर अपना रद्द-ए-अमल ज़ाहिर करते हुए माओइस्ट पार्टी ने कहा कि एनकाउंटरज़ की ज़िम्मेदार ख़ुद हुकूमतें हैं। तेलंगाना-ओ-आंध्र प्रदेश रियासती कमेटी के तर्जुमान योगेंद्र यादव ने अपने दो सफ़हात पर मुश्तमिल अख़बारी बयान में दोनों हुकूमतों से एनकाउंटरस के मुताल्लिक़ कई सवालात किए।

उन का ये बयान एसे वक़्त सामने आया जब दोनों हुकूमतें तरक़्क़ीयाती प्रोग्रामों की दौड़ में एक दूसरे पर सबक़त ले जाने की कोशिश कर रही हैं। तर्जुमान ने हुकूमतों के साथ पुलिस पर भी तन्क़ीद की और कहा कि सरमायादारी निज़ाम को मुस्तहकम बनाने और बैरूनी सरमाया कारों को राग़िब करने के लिए इक़दामात किए जा रहे हैं।

उन्होंने मज़लूम अवाम खास्कर अक़लियतों पर मज़ालिम को अफ़सोसनाक क़रार दिया और अवाम से अपील की कि वो सी पी आई ( एम एल) माओइस्ट की मुसल्लह जद्द-ओ-जहद से जुड़ जाएं। तर्जुमान पार्टी ने कहा कि अवाम को चाहीए कि वो इंसाफ़ के तक़ाज़ों के लिए माओइस्ट का साथ दें।

उन्होंने माओइस्टटों की तरफ से जारी तर्बीयत का हिस्सा बनने की भी अवाम से अपील की। उन्होंने मर्कज़ी-ओ-रियासती हुकूमतों को सख़्त तन्क़ीद का निशाना बनाते हुए कहा कि दहश्तगर्दी के ख़ातमे के नाम पर दहश्तगर्दी के ख़िलाफ़ कार्यवाईयों का हवाला देते हुए मोदी हुकूमत अवामी भलाई के इक़दामात से काफ़ी दूर जा चुकी है और आम आदमी के हक़ में सिवाए नाउम्मीदी के कुछ और नहीं हुए।

उन्होंने कहा कि मोदी हुकूमत में तरक़्क़ी के बजाय नफ़रत में इज़ाफ़ा हुआ है। मोदी मुल्क की तरक़्क़ी के बजाये हिंदुतवा ताक़तों की तरक़्क़ी और उन्हें उभारने में जुटे हैं।

TOPPOPULARRECENT