Wednesday , December 13 2017

एनडीए अलहदा, भाजपा एक्तेदार से बाहर

पटना : 17 साल पुराना भाजपा-जदयू इत्तेहाद इतवार को टूट गया। जदयू सदर शरद यादव ने इतवार को वजीर ए आला नीतीश कुमार की मौजूदगी में इसकी एलान कर दी। शरद ने एनडीए के कन्वेनर ओहदे से इस्तीफा देने की भी एलान की। रिश्ते खत्म होने के एलान के पहल

पटना : 17 साल पुराना भाजपा-जदयू इत्तेहाद इतवार को टूट गया। जदयू सदर शरद यादव ने इतवार को वजीर ए आला नीतीश कुमार की मौजूदगी में इसकी एलान कर दी। शरद ने एनडीए के कन्वेनर ओहदे से इस्तीफा देने की भी एलान की। रिश्ते खत्म होने के एलान के पहले वजीर ए आला ने गवर्नर से मिल कर अपनी हुकूमत में शामिल भाजपा के 11 वजरा की बरखास्तगी की सिफारिश की, जिसे गवर्नर ने कबुल कर लिया।

तीन दिन बाद बुध (19 जून) को नीतीश हुकूमत असेंबली के खुसूसी सेशन में एतमाद वोट हासिल करेगी।
इतवार को ही जदयू के आला कायदीनों की बैठक से थोड़ी देर पहले वजीर ए आला रिहायिसगाह में रियासत काबिना की हंगामी बैठक हुई। इसमें 19 जून को बिहार असेंबली का एक दिन का खुसूसी सेशन बुलाने के तजवीज को मंजूरी दी गयी। इधर, जदयू ने बदली सियासी हालत में पीर के दिन तीन बजे जदयू असेंबली रुक्न पार्टी की खुसूसी बैठक बुलायी है। वजीर ए आला रिहायिस में होनेवाली बैठक में जदयू के तमाम वजीर, एमपी, असेंबली रुक्न, असेंबली पार्षद, पार्टी के सीनियर ओहदेदारों, जिला सदर और शुबे के सदर को मदउ किया गया है।

ऐसे बनी रजामंदी : तकरीबन दो घंटे तक चली जदयू की हाइ लेवल बैठक के बाद भाजपा के साथ तालुकात को खत्म करने की इत्तेफाक बनी। कौमी सतह पर जदयू अब एनडीए से अलग हो गया है। इसके पहले वजीर ए आला रिहायिसगाह पर रियासत काबिना की बैठक हुई। काबिना की बैठक में भाजपा के 11 वजीर शामिल नहीं हुए। इसके बाद जदयू की बैठक से बाहर निकल वजीर ए आला नीतीश कुमार राजभवन पहुंचे। तकरीबन आधे घंटे तक गवर्नर हाउस में बिताने के बाद ढाई बजे जब वे बाहर निकले तो सहफियों से कहा कि 19 जून को हम इत्माद का वोट हासिल करेंगे।

TOPPOPULARRECENT