Thursday , December 14 2017

एन सी टी सी पर तजावीज़ का मुसव्वदा चीफ़ मिनिस्टर्स को रवाना

यू पी ए की हलीफ़ ममता बनर्जी के बिशमोल कई चीफ़ मिनिस्टर्स की जानिब से एन सी टी सी के क़ियाम की शदीद मुख़ालिफ़त के पेशे नज़र मर्कज़ ने तमाम चीफ़ मिनिस्टर्स को मयारी कार कुर्द तरीका-ए-कार की तजावीज़ का मुसव्वदा तमाम चीफ़ मिनिस्टर्स को रवाना कर

यू पी ए की हलीफ़ ममता बनर्जी के बिशमोल कई चीफ़ मिनिस्टर्स की जानिब से एन सी टी सी के क़ियाम की शदीद मुख़ालिफ़त के पेशे नज़र मर्कज़ ने तमाम चीफ़ मिनिस्टर्स को मयारी कार कुर्द तरीका-ए-कार की तजावीज़ का मुसव्वदा तमाम चीफ़ मिनिस्टर्स को रवाना कर दिया है और मुजव्वज़ा एन सी टी सी के क़ियाम से पहले 5 मई को इस मुतनाज़ा मसला पर एक अहम इजलास तलब किया गया है।

मर्कज़ी वज़ारत-ए-दाख़िला ने इख्तेलाफ़ात दूर करने और इत्तेफ़ाक़ राय पैदा करने के मक़सद से ये मुसव्वदा तमाम चीफ़ मिनिस्टर्स को रवाना किया है, जिस में इन्सेदाद-ए-दहशत गर्दी मर्कज़ की स्टैंडिंग कौंसल के इख़्तेयारात और कारकर्दगी की तफ्सीलात दर्ज की गई हैं।

ये कौंसल तमाम रियास्ती हुकूमतों और मर्कज़ के नुमाइंदा पर मुश्तमिल होगी। मर्कज़ ने इख़्तेयारात के इस्तेमाल को दफ़आत 3.1 और 3.2 के तहत कर दिया है, जो जारी कर्दा आलामीया की दफ़आत हैं। ये आलामीया क़ौमी इन्सेदाद-ए-दहशत गर्दी मर्कज़ के इख़्तेयारात और फ़राइज़ के मुताल्लिक़ है।

इन दोनों दफ़आत की गैरकांग्रेसी चीफ़ मिनिस्टर्स ने परज़ोर मुख़ालिफ़त की है। वज़ीर-ए-दाख़िला पी चिदम़्बरम ने भी एजेंडा के काग़ज़ात 5 मई को तलब कर्दा ख़ुसूसी इजलास में पेश करने और तफ्सीलात वाज़िह करने का फ़ैसला किया है, ताकि एन सी टी सी के बारे में इत्तेफ़ाक़ राय पैदा किया जा सके।

TOPPOPULARRECENT