Friday , January 19 2018

एन सी टी सी रियासतों के हुक़ूक़ ग़सब नहीं करेगा: चिदम़्बरम

एन सी टी सी के मौज़ू पर आइन्दा चीफ मिनिस़्टरों के इजलास के लब-ओ-लहजा का तीन करते हुए मर्कज़ी वज़ीर दाख़िला पी चिदम़्बरम ने आज रियासतों के इस अंदेशा का नज़र अज़ाला करने की कोशिश की कि एन सी टी सी रियासतों के हुक़ूक़ ग़सब करेगा और कहा कि दहश्

एन सी टी सी के मौज़ू पर आइन्दा चीफ मिनिस़्टरों के इजलास के लब-ओ-लहजा का तीन करते हुए मर्कज़ी वज़ीर दाख़िला पी चिदम़्बरम ने आज रियासतों के इस अंदेशा का नज़र अज़ाला करने की कोशिश की कि एन सी टी सी रियासतों के हुक़ूक़ ग़सब करेगा और कहा कि दहश्तगर्दी से मुक़ाबला मर्कज़ और रियासतों की मुशतर्का ज़िम्मेदारी है।

उन्होंने बी एस एफ क़ानून की तरमीम पर अपोज़ीशन पर एतराज़ किया और कहा कि इस से नियम फ़ौजी फ़ोर्स को ज़्यादा ताक़त हासिल होगी लेकिन इसका मक़सद सिर्फ रियासतों में इस की तैनाती को बाक़ायदा बनाना है जिस की गुंजाइश असली क़ानून में फ़राहम नहीं की गई थी।

तशद्दुद और दहश्तगर्दी से निमटने को मुशतर्का ज़िम्मेदारी क़रार देते हुए उन्होंने कहा कि हम तो ज़िम्मेदारी में शराकत के लिए आमादा है। हम चाहते हैं कि रियासतें भी उनकी ज़िम्मेदारी में शरीक हों। चिदम़्बरम लोक सभा में मुबाहिस का जवाब दे रहे थे। बादअज़ां मुतालिबात ज़र कटौती तहरीक की शिकस्त के बाद नदाई वोट के ज़रीया मंज़ूर कर लिए गए। कई चीफ मिनिस्टर्स की जानिब से बिशमोल हलीफ़ ममता बनर्जी एन सी टी सी की मुख़ालिफ़त पर उन्होंने कहा कि ये 2004 के क़ानून का नतीजा है जो पहले ही मंज़ूर किया जा चुका है।

TOPPOPULARRECENT