Monday , December 18 2017

एफडी आई पर आज पार्लीमेंट में राय दही, हुकूमत बेफ़िक्र

नई दिल्ली, 05 दिसंबर (पीटीआई) रीटेल शोबे में एफडी आई पर लोक सभा में चहारशंबा की कलीदी राय दही से क़बल हुकूमत ने आज कहा कि तशवीश का कोई मुआमला नहीं और हर चीज़ कल शाम तक वाज़िह हो जाएगी। हमें क़तई फ़िक्रमंद नहीं होना चाहीए।

नई दिल्ली, 05 दिसंबर (पीटीआई) रीटेल शोबे में एफडी आई पर लोक सभा में चहारशंबा की कलीदी राय दही से क़बल हुकूमत ने आज कहा कि तशवीश का कोई मुआमला नहीं और हर चीज़ कल शाम तक वाज़िह हो जाएगी। हमें क़तई फ़िक्रमंद नहीं होना चाहीए।

कल (चहारशंबा) को 6 बजे तक हर चीज़ वाज़िह हो जाएगी और हमें नतीजा हासिल हो जाएगा, लोक सभा के लीडर और वज़ीर-ए-दाख़िला सुशील कुमार शिंदे ने यहां अख़बारी नुमाइंदों को ये बात बताई। मंगल को जब पार्लीमेंट की कार्रवाई रीटेल सेक्टर में एफडी आई पर ऐसे क़ायदा के तहत मुबाहिस के साथ शुरू हुई जो वोटिंग का मुतक़ाज़ी है, कांग्रेस ने इस ग़ैर सेहत मंदाना नज़ीर पर अपनी नाराज़गी को पोशीदा नहीं रखा कि आमिला के एक फ़ैसला को क़ानूनसाज़ी राय दही के लिए पेश किया गया है।

क़ब्लअज़ीं दिन में मल्टी ब्रांड रीटेल में एफडी आई की इजाज़त देने यू पी ए हुकूमत के फ़ैसला पर गर्मा गर्म मुबाहिस के दौरान लोक सभा में अपोज़ीशन की लीडर सुषमा स्वराज ने मर्कज़ को यकतरफ़ा तौर पर फ़ैसला कर लेने पर शदीद तन्क़ीद का निशाना बनाया।

हुकूमत को लोक सभा में यक्का-ओ-तन्हा करने की कोशिश में सुषमा ने कहा, सदर जमहूरीया परनब मुखर्जी के तय्क्कुनात के बावजूद जो तब वज़ीर फायनेंस थे, हुकूमत ने रीटेल में एफडी आई पर इत्तिफ़ाक़ राय पैदा करने की कोशिश तक नहीं की। फ़ैसला करने से क़बल कोई भी सयासी जमात से राबिता नहीं किया गया।

उन्होंने कहा, किसान अपने आलू फेंक देने पर मजबूर हैं जबकि मुक डोनाल्डज़ वाले अपने इस्तेमाल के आलू दरआमद करते हैं, और अपनी शोला बयान बहस का इख्तेताम कांग्रेस और उसकी आला क़ियादत पर सयासी तंज़ करते हुए कहा, हम आपको शिकस्त देते हुए नहीं, बल्कि आप को मुतमईन करते हुए जीतना चाहते हैं।

सुषमा के रिमार्क के तनाज़ुर में मुक डोनाल्डज़ इंडिया ने वज़ाहत की कि वो हिंदूस्तान में अपने प्रॉडक्ट्स के लिए तमाम अजज़ा की मुक़ामी मंडी से ही ख़रीदारी करते हुए। सुषमा की बहस पर शदीद रद्द-ए-अमल में कांग्रेस ने अपोज़ीशन को रीटेल में एफडी आई पर एतराज़ के ज़रीया सयासी फ़वाइद हासिल करने की कोशिश का मौरिद इल्ज़ाम ठहराया और इद्दिआ किया कि इस फ़ैसला से मुल्क में किसानों, छोटे पैमाना की सनअतों, नौजवानों और सारिफ़ीन को फ़ायदा पहुंचेगा।

इस मसला पर लोक सभा में मुबाहिस के दौरान पार्टी का मौक़िफ़ पेश करते हुए वज़ीर-ए-मवासलात कपिल सिब्बल ने बी जे पी और बाएं बाज़ू जमातों पर बुनियादी हक़ीक़त को नजरअंदाज़ करने और कमीशन एजेंट्स की मदद करने का इल्ज़ाम भी आइद किया।

उन्होंने कहा कि मौजूदा सिस्टम में कमीशन एजेंट्स हक़ीक़ी इस्तिफ़ादा कुनुन्दगान हैं और किसानों को अपनी पैदावार के लिए सिर्फ़ 15 ता 17 फ़ीसद रक़म हासिल होती है। उन्हें (अपोज़ीशन) समझना होगा कि आया वो दलालों के साथ हैं और आप दरमीयानी आदमीयों के साथ हैं, कपिल ने अपोज़ीशन की जानिब से पुरशोर एहतिजाजों के दरमयान ये रिमार्क किया।

तेज़-ओ-तुंद हमले में कपिल ने कहा कि बी जे पी ने अपने 2004 मंशूर में मुल्क में 26 फ़ीसद एफडी आई का ऐलान किया था। समाजवादी पार्टी और बहुजन समाज पार्टी दोनों आज रीटेल में एफडी आई के बारे में हुकूमत को हदफ़ तन्क़ीद बनाने में अपोज़ीशन के साथ शामिल हो गए लेकिन बदस्तूर चहारशंबा को वोटिंग के बारे मुतज़ाद मौक़िफ़ के हामिल हैं जबकि यू पी ए हलीफ़ डी एम के ने एफडी आई वाले इक़दाम पर अपनी मुख़ालिफ़त के बावजूद मख़लूत हुकूमत को ज़वाल से दो-चार ना करने का अज़म किया है।

एस पी सरबराह मुलायम सिंह यादव ने कांग्रेस को मुतनब्बा किया कि एफडी आई फ़ैसला इसके इंतिख़ाबी इम्कानात को मुतास्सिर करेगा और बी जे पी को फ़ायदा पहुंचाएगा, नीज़ उन्होंने बी एस पी लीडर दारा सिंह चौहान के साथ मिल कर हुकूमत को मुतमईन करने की कोशिश की कि इस फ़ैसला पर अमल आवरी में उजलत से काम ना लिया जाए ।

ताहम यू पी ए को एफडी आई पर चहारशंबा की वोटिंग में दोनों पार्टीयों की ताईद दरकार रहेगी।

TOPPOPULARRECENT