Sunday , July 22 2018

एफडी आई क़वाइद के ख़िलाफ़ आर एस एस का भी एहतेजाज

नई दिल्ली: मुल्क के 15 अहम शोबों में एफडी आई उसूलों में नरमी लाने, हुकूमत के फ़ैसले के ख़िलाफ़ इल्म बग़ावत उठाते हुए आर एस एस से वाबस्ता स्वदेशी जागरण मंच ने आज मर्कज़ से मुतालिबा किया कि वो अपने फ़ैसले को मोख़र कर दे। एफडी आई के फ़ैसले से होने वाले नुक़्सानात का जायज़ा लिया जाये।

एफडी आई से जिसको फ़ायदा होने वाला है इस का भी जायज़ा लेना चाहिए। हुकूमत ने मेक इन इंडिया के इक़दामात किए थे। उसे सबसे ज़्यादा मेड बाई इंडिया पर तवज्जे देना चाहिए। स्वदेशी जागरण मंच का ईक़ान है कि एफडी आई उसूलों में नरमी लाने हुकूमत का ये मौजूदा फ़ैसला उजलत में किया गया है।

बड़ी कंपनीयों की मईशत को बेहतर बनाने के बजाय अवाम के मसाइल पर तवज्जे दी जाये। इस फ़ैसले के अवाक़िब-ओ-नताइज का जायज़ा लिए बग़ैर ही हुकूमत क़दम उठाएगी तो मुश्किलात पैदा होंगी। ये देखकर तकलीफ़ होती है कि मौजूदा हुकूमत भी इस सिलसिले में यू पी ए की साबिक़ हुकूमत की पालिसी पर अमल पैरा है।

स्वदेशी जागरण मंच की जानिब से हुकूमत के इस फ़ैसले की मुख़ालिफ़त उस वक़्त आई जब तीन दिन क़बल आर एस एससे वाबस्ता एक और तंज़ीम भारतीय मज़दूर सिंह ने भी एफडी आई पर हुकूमत के फ़ैसले के ख़िलाफ़ बड़े पैमाने पर एहतेजाज शुरू करने का फ़ैसला किया था । उसने एफडी आई फ़ैसले को फ़ौरी वापिस लेने का मुतालिबा किया है।

TOPPOPULARRECENT