एमपी बोर्ड 12वीं एग्जाम में 13 साल की बच्ची ने फर्स्ट डिवीजन पास किया

एमपी बोर्ड 12वीं एग्जाम में 13 साल की बच्ची ने फर्स्ट डिवीजन पास किया

मध्यप्रदेश बोर्ड द्वारा कक्षा 12वीं के परीक्षा परिणाम को 27 जुलाई को जारी किया गया। मध्यप्रदेश के शहर इंदौर की रहने वाली छात्रा तनिष्क सुजीन ने काॅमर्स विषय में 62.8 प्रतिशत अंकों के साथ कक्षा 12वीं को पास किया है। यह छात्रा प्रतिभा की धनी है। तनिष्क सुजीत की उम्र मात्र 13 साल है।तनुष्का का जन्म 2007 में हुआ। मध्यप्रदेश बोर्ड के नियमों के अनुसार कम उम्र के छात्र-छात्रा को बोर्ड परीक्षा में बैठने की अनुमति नहीं दी जाती है।

लेकिन उसने बोर्ड के नियमों का पालन करते हुए राज्यपाल से परीक्षा में बैठने की अनुमति ली। इतनी छोटी उम्र में उसने यह कार्य अपने पापा के सपनों को साकार करने के लिए किया था। लेकिन दुर्भाग्य की बात यह हुई कि परीक्षा परिणाम आने के 20 दिन पहले ही उसके पिता इस दुनियां को अलविदा कह चुके थे। मध्यप्रदेश बोर्ड के सचिव अनिल सुचारी ने बताया है कि उनके पापा का यह सपना था कि उनकी बेटी सबसे कम उम्र में कक्षा 12वीं को पास करने वाली हो।

तनिष्क सुजीत ने कहा कि मुझे वहुत खुशी हो रही है। कि मेंने अपने पापा के सपने को पूरा किया। लेकिन मुझे इस वात का दुख है कि वो अब इस दुनियाँ में नहीं रहे।पिछली साल कक्षा 10वीं को उसने 65 प्रतिशत अंकों के साथ पास किया था। तनिष्क की माता का नाम अनुभा है। उन्होने बताया है कि उसके पापा उसकी मेमोरी को मजबूत करने के लिए उसे योग सिखाते थे। उसके प्रत्येक काम में मदद करते थे।

Top Stories