Thursday , December 14 2017

एमसेट की तय्यारी केलिए आसान तकनीक पर तवज्जा दी जाय

एमसेट ज़िंदगी का अहम मोड़ है जहां से कई प्रोफेशनल कोर्सस में दाख़िले मिलते हैं। एमसेट 12 मई को मुक़र्रर है और इस की तय्यारी, कामयाबी के उसुल, तकनीक के लिए एक मालूमाती सेमिनार और इदारा सियासत के ज़ेर एहतिमाम गोल्डन जुबली हाल आबिडस प

एमसेट ज़िंदगी का अहम मोड़ है जहां से कई प्रोफेशनल कोर्सस में दाख़िले मिलते हैं। एमसेट 12 मई को मुक़र्रर है और इस की तय्यारी, कामयाबी के उसुल, तकनीक के लिए एक मालूमाती सेमिनार और इदारा सियासत के ज़ेर एहतिमाम गोल्डन जुबली हाल आबिडस पर मुनाक़िद हुवा जिस को मुख़ातब करते हुए जनाब मुहम्मद अकबर उद्दीन सिद्दीकी साबिक़ प्रिंसिपल मुमताज़ कॉलिज ने कहा कि एमसेट में कामयाबी और रैंक के साथ दाख़िला पाने के लिए सब से अहम बुनियादी तौर पर मज़मून में माहिर होना चाहीए।

जब वो किसी मज़मून के बुनियादी उसोल से वाक़िफ़ ना हो तो वो कम वक़्त में सवालात हासिल किस तरह करेगा। उन्हों ने मेडीसिन ज़मुरा के उम्मीदवारों को मश्वरा दिया कि वो सब से पहले जियालो जिकल साईंस के पर्चा को हल करें, जो निसबतन आसान होंगे और इस से पूरे निशानात हासिल होंगे और वक़्त बचेगा। फिर केमिस्ट्री और आख़िरी में फिज़िक्स। बाअज़ तालिब-ए-इल्म फिज़िक्स के सवालात को मुश्किल समझ कर वक़्त ज़ाए कर देते हैं।

इस का असर दूसरे मज़ामीन पर भी पड़ता है। उन्हों ने वक़्त के सहीह इस्तिमाल और याददाश्त के उसोल पर बहुत सहल अंदाज़ में पेश किया और तलबा को मश्वरा दिया कि वो कामयाबी के बजाय दाख़िला के लिए ये इम्तेहान लिखें। जनाब सय्यद ज़ाकिर ने जो एमसेट की तदरीस का देरीना तजुर्बा रखते हैं, कहा कि आबजेकटिव टाइप सवालात के हल करने और इम्तेहान लिखने का तरीका अलग होता है।

इंटरमीडियट और दीगर एकेडेमिक इम्तेहानात में सवाल जवाब तहरीर करना होता है जब कि ये ऐंटरैंस इम्तेहान सिर्फ़ आबजेकटिव टाइप सवालात पर मबनी होता है। इस के लिए अलैहदा मंसूबा यह हिकमतॱएॱ अमली तय्यार करनी चाहीए। कामयाबी के बजाय अच्छे निशानात के ज़रीया रैंक पाने के तरीका को अपना कर तय्यारी करें। जनाब मंज़ूर अहमद कन्वीनर कोचिंग सैंटर ने इबतिदाई तक़रीर में एमसेट कोचिंग के अग़राज़-ओ-मक़ासिद बताए।

सियासत कैरीअर कौंसिलर एम ए हमीद ने निज़ामत के फ़राइज़ अंजाम देते हुए एमसेट के निज़ाम उल ओक़ात, शरीक तलबा की तादाद, हाल टिकट डाउन लोड करने और रैंक के तरीका-ए-कार को बतलाया। इस मौक़ा पर सय्यद साबिर लेकचरर ने मुआवनत की। जनाब मुहम्मद मुनीर अहमद सियासत हेल्पलाइन ने एमसेट की कोचिंग क्लास से भरपूर इस्तिफ़ादा करने और वक़्त को मल्हूज़ रखने का मश्वरा दिया।

समेनार का आग़ाज़ मुफ़्ती अबदुल्लाह की क़ेराअत से हुवा। इस मौक़ा पर तलबा-ए-ओ- तालिबात की कसीर तादाद ने शिरकत की। सियासत एमसेट कोचिंग चारमीनार और टोली चौकी में शुरू होगी। आख़िर में एम ए हमीद ने शुक्रिया अदा किया।

TOPPOPULARRECENT