Saturday , December 16 2017

एम एन एस का एहतिजाज, माक़बल इंतिख़ाबात तमाशा

महाराष्ट्र नवनिर्माण सेना सरबराह राज ठाकरे और पार्टी कारकुनों की जानिब से पूरी रियासत में किए गए रास्ता रोको एहतिजाज को कांग्रेस और एन सी पी ने उसे माक़बल इंतिख़ाबात एक तमाशा क़रार दिया है और साथ ही उस एहतिजाज से मुनासिब अंदाज़ में

महाराष्ट्र नवनिर्माण सेना सरबराह राज ठाकरे और पार्टी कारकुनों की जानिब से पूरी रियासत में किए गए रास्ता रोको एहतिजाज को कांग्रेस और एन सी पी ने उसे माक़बल इंतिख़ाबात एक तमाशा क़रार दिया है और साथ ही उस एहतिजाज से मुनासिब अंदाज़ में निमटने और रियासत में नज़म-ओ-नसक़ की बरक़रारी पर हुकूमत महाराष्ट्र को मुबारकबाद दी।

कांग्रेस तर्जुमान सचिन सावंत ने ज़राए इबलाग़ से कहा कि एम एन एस का रास्ता रोको एहतिजाज एक नाकाम एहतिजाज था। उन्होंने कहा कि हुकूमत महाराष्ट्र की टूल टैक्स पालिसी दूसरी रियासतों की बनिसबत पहले ही साफ़-ओ-शफ़्फ़ाफ़ है और उसे मज़ीद शफ़्फ़ाफ़ बनाने की कोशिश जारी है। बावजूद इसके एम एन एस का एहतिजाज महज़ एक सियासी तमाशा है जो सिर्फ़ वोट के पाने के लिए किया गया।

दूसरी तरफ़ एन सी पी तर्जुमान नवाब मलिक ने भी एम एन एस के एहतिजाज को तमाशा क़रार दिया है। उन्होंने कहा कि राज ठाकरे पर ये हक़ीक़त वाज़िह होजाने के बाद कि उनके पास दूसरी कोई ताक़त नहीं है, और उनकी पार्टी कोई अच्छा काम नहीं करसकती, अवाम की तवज्जो अपनी तरफ़ करने के लिए ये तमाशा किया गया है।

आम आदमी पार्टी के रुक्न अजीत सावंत ने इल्ज़ाम आइद किया कि ये एम एन एस। कांग्रेस और एन सी पी की मिली भगत है जो अवाम की तवज्जो असल मौज़ूआत से हटाने की कोशिश कररहे हैं। महाराष्ट्र बी जे पी यूनिट के तर्जुमान माधव भंडारी ने भी आप पार्टी के ख़्याल से इत्तिफ़ाक़ करते हुए कहा कि एम एन एस और हुकमरान जमात अवाम की तवज्जो असल मौज़ूआत रोज़गार और तरक़्क़ी से हटा रही है।

TOPPOPULARRECENT