Saturday , December 16 2017

एम एस जूनीयर कॉलेज के तलबा का फिर शानदार मुज़ाहरा

इंटरमीडियट के नताइज में एम एस जूनीयर कॉलेज ने आज एक बार फिर ये साबित कर दिया कि मेआर के साथ गैर मुतज़लज़ल अज़म ही हर क़ौम की रुकावट का मुक़ाबला करते हुए हर सूरत में अज़ीम कामयाबी की हैसियत से उभरता है । जैसा कि कभी सुना करते थे इस्

इंटरमीडियट के नताइज में एम एस जूनीयर कॉलेज ने आज एक बार फिर ये साबित कर दिया कि मेआर के साथ गैर मुतज़लज़ल अज़म ही हर क़ौम की रुकावट का मुक़ाबला करते हुए हर सूरत में अज़ीम कामयाबी की हैसियत से उभरता है । जैसा कि कभी सुना करते थे इस्तिक़लाल और कामयाबी के लिए महज़ कोशिश और अज़म के इलावा और बहुत कुछ करने की ज़रूरत होती है ।

चुनांचे एम एस जूनीयर कॉलेज ने अपने शानदार नताइज के साथ एक बार फिर ये सब कुछ अमली तौर पर साबित कर दिखाया है । एम एस जूनीयर कॉलेज के मुस्लिम तलबा-ओ-तालिबात ने मिसाली कामयाबी के साथ शानदार नताइज का मुज़ाहरा किया है जिस के लिए एम एस कॉलेज का इंतिज़ामीया इस अज़ीम कामयाबी से अपनी सरफ़राज़ी के लिए अल्लाह रब अलाज़त की बारगाह में शुक्र गुज़ार है ।

एम एस ग्रुप आफ़ इंस्टी टयूशंस के मैनेजिंग डायरैक्टर जनाब मुहम्मद अब्दुल लतीफ़ ख़ां ने अपने कॉलेजों के तलबा-ओ-तालिबात की बहतरीन कामयाबियों पर कहा कि 2005 मैं एम एस कॉलेज की तालिबा आईशा फ़ातिमाने आई पी ई में रियासत भर में पहला रैंक हासिल करते हुए शानदार कामयाबियों का रुजहान क़ायम किया था । जिस के बाद ये सिलसिला बहमद लिल्लाह आज भी जारी है ।

इस साल भी एम एस जूनीयर कॉलेजों के तलबा ने इंटर मेडियट साल दूवम के इम्तेहानात में 98 फीसद से ज़ाइद निशानात हासिल करते हुए टाप मुक़ाम पर रहे । इन तमाम में बिलख़सूस समीआ इक़बाल कुरैशी सर फ़हरिस्त रही हैं जिन्हें 1000 के मिनजुमला 983 निशानात हासिल हुए हैं।

मास्टर सैयद हसन ने 1000 के मिनजुमला 981 निशानात हासिल किए ।सैदा निसार फ़ातिमा को 980 राबिया रफ़ी को 979 और अस्मा फरहीन को 978 निशानात हासिल हुए हैं।

इसतरह एम एस जूनीयर कॉलेज के उम्मीदवारों को रियासत भर में पांचवां सातवां आठवां नवां और दसवां रैंक हासिल हुआ है । एम एस के 31 तलबा को 95 फीसद से ज़ाइद निशानात हासिल हुए हैं।

इस तरह एम एस जूनीयर कॉलेज की तमाम शाख़ों में तमाम एस्ट्रियमस ( एम पी सी बी पी सी एम ई सी और सी ई सी ) के तलबा-ओ-तालिबात ने बहैसियत मजमूई शानदार तालीमी मुज़ाहरा किया है जिस के लिए एम एस कॉलेज इंतिज़ामीया अपने स्टाफ़ लेकचररस तलबा और ओलयाए तलबा-ओ-सरपरस्तों को मुबारकबाद पेश करता है ।

एम एस कॉलेज इंतिज़ामीया इस कामयाबी के लिए तलबा और असातिज़ा की पुर ख़ुलूस अनथक मेहनत की सताइश करता है जो इस इदारा को ये एज़ाज़ बख़शती है ।

TOPPOPULARRECENT