Thursday , December 14 2017

एम ए ख़ान और मुख़तार अब्बास नक़वी के दरमियान नोक झोंक

कांग्रेस के रुकन राज्य सभा एम ए ख़ान और बी जे पी के क़ौमी तर्जुमान मुख़तार अब्बास नक़वी के दरमियान गांधी जी के मसले पर राज्य सभा में नोक झोंक हो गई।

कांग्रेस के रुकन राज्य सभा एम ए ख़ान और बी जे पी के क़ौमी तर्जुमान मुख़तार अब्बास नक़वी के दरमियान गांधी जी के मसले पर राज्य सभा में नोक झोंक हो गई।

राज्य सभा में आज एफडी आई मसले पर बहस के दौरान आनंद शर्मा ने जब गांधी जी को कांग्रेसी रहनुमा क़रार दिया तो बी जे पी लीडर मुख़तार अब्बास नक़वी ने उस की मुख़ालिफ़त करते हुए कहा कि गांधी जी कांग्रेसी लीडर नहीं थे, बल्के मुजाहिद आज़ादी के साथ साथ वो क़ौमी असासा थे।

इस पर कांग्रेस रुकन राज्य सभा एम ए ख़ान ने मुदाख़िलत और आनंद शर्मा के बयान की मुदाफिअत करते हुए कहा अगर बी जे पी गांधी जी को क़ौमी असासा मानती तो गांधी जी का क़तल हरगिज़ ना करवाती और ना ही क़ातिल की ताईद करती।

एफडी आई की राय दही के बाद मीडीया से बातचीत करते हुए एम ए ख़ान ने कहा कि एफडी आई से मुलक और चिल्लर फ़रोशों को नुक़्सान पहुंचने के बे बुनियाद दावे किए जा रहे हैं।

कांग्रेस ने मुल्की मुफ़ादात को पेशे नज़र रख कर ये फ़ैसला किया है। उन्हों ने पार्लियामेंट में बी जे पी की पारलीमानी क़ाइद सुषमा स्वराज की तरफ से एफडी आई को हिंदू। मुस्लिम रंग देने की सख़्त मुज़म्मत करते हुए कहा कि कांग्रेस एक सैकूलर जमात है, कांग्रेस को फ़िर्क‌ परस्त बी जे पी से सेकुलरिज्म का सबक़ हासिल करने की ज़रूरत नहीं है।

TOPPOPULARRECENT