Tuesday , December 12 2017

एवार्ड लौटानेवाले वाले दानिश्वरमंद मुल्क का गद्दार : वजीरे आला

रांची : वजीरे आला रघुवर दास ने कहा है कि कुछ दानिश्वरमंद एवार्ड लौटा रहे है़ ये ख्यालि दहशतगर्द फैला रहे है़ ये लोग इज़्ज़त नहीं, बल्कि ऐसा लग रहा है कि कोई समान लौटा रहे है़। सस्ती मकबूलियत व टीआरपी बढ़ाने वाली अदीब या लेखन की जगह संगीन लेखन की जानी चाहिए।

मिस्टर दास पीर को एटीआइ में हिन्दुस्थान समाचार एजेंसी की मैगजीन के तकरीब में बोल रहे थे़ तकरीब में आरएसएस के सर कार्यवाह सुरेश भैय्या जी जोशी भी मौजूद थे़। सीएम ने कहा कि एवार्ड लौटानेवालों का शोबिया तानाशाहों की तरह का है़। मुल्क में एक हजार से ज्यादा दानिश्वरमंद को साहित्य अकादमी का एवार्ड मिला है़।

29 अदीबो ने एवार्ड लौटाया है़। सेकुलर और बुनियाद परस्त के ये ब्रिगेडियर बन गये है़ं। ये मरकज़ और भाजपा हुकूमत रियासतों के खिलाफ खयाली दहशतगर्द फैला रहे है़ं। मिस्टर दास ने कहा कि साबरमती एक्सप्रेस में 58 कार सेवक जलाये गये तब इनकी रद्दो-अमल नहीं आयी़ हर बार नरेंद्र मोदी को ऐसे लोग कठघरे में खड़ा करने की साजिश करते रहे है़ं। इमरजेंसी में या 1984 में भी उनको ऐसा करते नहीं देखा गया।

नरेंद्र मोदी की कियादत में 30 सालों बाद और मजबूत अवामी रुझान की हुकूमत बनी़। इस अमेंडमेंट को कुछ चाटुकार अदीब नकारने का काम कर रहे है़ं। मुल्क में नफरत फैलाने वाले लालची लोग हैं, जो मुल्क को बदनाम करने की कोशिश कर रहे है़ं। ये लोग मुल्क प्रेमी नहीं है, गद्दार है़। मिस्टर दास ने कहा कि मीडिया को भी समझना चाहिए कि मुल्क का टेस्ट बदला है़। इस लड़ाई में मीडिया की भी बड़ी किरदारहै़ ।

 

TOPPOPULARRECENT