Tuesday , December 12 2017

एशियाई कोस्ट गार्ड कार्यक्रम से भारत ने खुद को बाहर रख कर पाकिस्तान को दिया सख्त संदेश

इस्लामाबाद। भारत ने इस हफ्ते इस्लामाबाद में हुए बहुपक्षीय एशियाई कोस्ट गार्ड कार्यक्रम से खुद को बाहर कर लिया है। इससे भारत ने एक बार फिर साबित कर दिया है कि वह पाकिस्तान के साथ किसी भी तरह की बातचीत से दूरी बनाए रखने के रुख पर अब भी कायम है।

भारत ने इस हफ्ते अफगानिस्तान के राष्ट्रपति अशरफ गनी और अमेरिकी विदेश मंत्री रेक्स टिलरसन की मेजबानी की थी और दोनों ही नेताओं के साथ बातचीत में पाकिस्तान प्रायोजित आतंकवाद मुद्दा शामिल था।

बैठक में शामिल होने के लिए आईसीजी के टॉप ऑफिसर्स का वीजा भी पाकिस्तान जाने के लिए ले लिया गया लेकिन बाद में यह तय किया गया कि फिलहाल पाकिस्तान से किसी भी लेवल पर बातचीत का समय ठीक नहीं है।

जानकारी के अनुसार आईसीजी के प्रवक्ता आर के सिंह ने भी कहा कि भारत इस बैठक का हिस्सा नहीं बन रहा है। भारत के साथ पाकिस्तान की द्विपक्षीय वार्ता साल 2015 से ठंडे बस्ते में पड़ी हुई है।

दरअसल, पठानकोट एयरबेस पर हमला और फिर उरी सेक्टर पर हमला वार्ताओं के न होने के मजबूत कारण रहे हैं। इसके बाद भारतीय नेवी ऑफिसर कुलभूषण जाधव को पाकिस्तान की ओर से सजा-ए-मौत दिया जाना भी दोनों देशों के बीच वार्ता न होने का कारण बनी।

TOPPOPULARRECENT