एशिया पैसेफिक में सबसे ज्यादा ‘रिश्वतखोर’ भारत में: ट्रांसपेरेंसी इंटरनेशनल की रिपोर्ट

एशिया पैसेफिक में सबसे ज्यादा ‘रिश्वतखोर’ भारत में: ट्रांसपेरेंसी इंटरनेशनल की रिपोर्ट
Click for full image

नई दिल्ली: ट्रांसपेरेंसी इंटरनेशनल ने अपने रिपोर्ट में खुलासा किया है कि एशिया पैसेफिक क्षेत्र में रिश्वत के मामले में वियतनाम के बाद भारत की स्थिति सब से बदतर है. भारत में दो-तिहाई से अधिक लोग किसी न किसी तरीके से रिश्वत देते हैं. ताकि उनका काम पूरा हो सके.
अधिकांश लोग रोज़मर्रा की समस्याओं से जुड़े मामलों जैसे लाइट, बिजली, फोन, पानी, सफाई और सड़क को लेकर रिश्वत का लेन-देन होता है.

ट्रांसपेरेंसी इंटरनेशनल की रिपोर्ट के अनुसार लगभग 69 फीसदी भारतीय किसी न किसी तरीके से रिश्वत देते हैं. टॉप 5 देशों की लिस्ट में सबसे ऊपर वियतनाम के बाद भारत का नाम है. पाकिस्तान (40 फीसदी)का नाम तीसरे नंबर पर है और चीन (26 फीसदी) इस लिस्ट में सबसे नीचे के स्तर पर है.

सबसे बेहतर स्थिति जापान और दक्षिण कोरिया की है. जहाँ जापान मात्र 0.2 फीसदी के साथ सबसे कम रिश्वत लेने वाला देश है, वहीं इसके बाद दक्षिण कोरिया का नंबर आता है जहां केवल 3 फीसदी लोग रिश्वत लेते हैं.
लेकिन पिछले एक साल में चीन में रिश्वत लेने के मामलों में सबसे ज्यादा ग्रोथ दिखी है. चीन के 73 फीसदी लोगों ने कहा है कि पिछले एक साल में चीन में रिश्वतखोरी बहुत बढ़ गई है.
बता दें कि ट्रांसपेरेंसी इंटरनेशनल ने 16 देशों में सर्वे किया था. इस सर्वे में यह भी खुलासा हुआ कि सबसे ज्यादा रिश्वत पुलिस को दी गई. अमीर लोगों के बजाए गरीब लोगों ने सबसे ज्यादा रिश्वत दी थी जिनकी संख्या 38 फीसदी है.

Top Stories