Saturday , December 16 2017

एसम्बली इंतिख़ाबात के बाद इंतिख़ाबी इस्लाहात : सलमान ख़ुरशीद

नई दिल्ली, ०७ जनवरी: (पी टी आई) हुकूमत इंतिख़ाबी निज़ाम को जराइम से पाक करने की पाबंद अह्द है। ये ऐलान करते हुए मर्कज़ी वज़ीर-ए-क़ानून सलमान ख़ुरशीद ने आज कहा कि दूररस इंतिख़ाबी इस्लाहात आइन्दा एसम्बली इंतिख़ाबात के बाद किए जाएंगे।

नई दिल्ली, ०७ जनवरी: (पी टी आई) हुकूमत इंतिख़ाबी निज़ाम को जराइम से पाक करने की पाबंद अह्द है। ये ऐलान करते हुए मर्कज़ी वज़ीर-ए-क़ानून सलमान ख़ुरशीद ने आज कहा कि दूररस इंतिख़ाबी इस्लाहात आइन्दा एसम्बली इंतिख़ाबात के बाद किए जाएंगे।

उन्हों ने प्रेस कान्फ़्रैंस से ख़िताब करते हुए कहा कि चीफ़ इलैक्शन कमिशनर हुकूमत से ख़ाहिश कर रहे है कि निज़ाम को साफ़ सुथरा बनाया जाए।

हुकूमत जल्द अज़ जल्द ऐसा करेगी। 5 रियास्तों में इंतिख़ाबात के मुकम्मल होते ही इस्लाहात का आग़ाज़ किया जाएगा। उन्हों ने आज कहा कि अब वक़्त आ गया है कि हिंदूस्तानी सियासत को जो मुश्किल वक़्त सी गुज़र रही है, बेहतर बनाया जाए।

उन्हों ने कहा कि जब हुकूमत लोक पाल बिल के सिलसिला में मसरूफ़ थी, सलमान ख़ुरशीद ने उम्मीद ज़ाहिर की कि वज़ीर-ए-आज़म मनमोहन सिंह को इस मुश्किल काम (इंतिख़ाबी इस्लाहात) की अंजाम दही में तमाम सयासी पार्टीयों की ताईद हासिल होगी।

मर्कज़ी वज़ीर-ए-क़ानून का ये ब्यान उस पस-ए-मंज़र में एहमीयत रखता है कि चीफ़ इलैक्शन कमिशनर एस वाई क़ुरैशी के तबसरा के मुताबिक़ हुकूमत को इंतिख़ाबी इस्लाहात केलिए ऐवान पार्लीमैंट में कोई क़ानून मंज़ूर करने की ज़रूरत नहीं है।

अन्ना हज़ारे भी इंतिख़ाबी इस्लाहात का मुतालिबा कररहे हैं , जिस में मुंख़बा नुमाइंदा की बाज़ तलबी की तजवीज़ भी शामिल है।

TOPPOPULARRECENT