एससी-एसटी को सस्ता राशन

एससी-एसटी को सस्ता राशन
रियासत में इन्कम टैक्स चुकाने वाले और क्लास एक, दो व तीन के सरकारी मुलाज़िमीन को छोड़ कर दर्ज़ फेहरिस्त जाति और जनजाति तबके के तमाम खानदान को फूड सेक्युर्टी के दायरे में लाया गया है। यह फैसला मंगल को रियासत कैबिनेट की हुई बैठक में लि

रियासत में इन्कम टैक्स चुकाने वाले और क्लास एक, दो व तीन के सरकारी मुलाज़िमीन को छोड़ कर दर्ज़ फेहरिस्त जाति और जनजाति तबके के तमाम खानदान को फूड सेक्युर्टी के दायरे में लाया गया है। यह फैसला मंगल को रियासत कैबिनेट की हुई बैठक में लिया गया। रियासत में दर्ज़ फेहरिस्त जाति और जनजाति की आबादी तकरीबन 20 फीसद है।

बैठक के बाद कैबिनेट सेक्रेटरी बी प्रधान ने बताया कि रियासत के दर्ज़ फेहरिस्त जाति और अनुसूचित जनजाति के तमाम खानदानों को अब फूड सेक्युर्टी का फाइदा मिलेगा। इस फैसले से इस तबके के कम-से-कम 60 से 70 लाख लोगों को नये सिरे से फूड सेक्युर्टी के घेरे में लाया जायेगा।

एक अनुमान के मुताबिक फिलहाल रियासत में दर्ज़ फेहरिस्त जाति-जनजाति तबके के 90 फीसद लोगों के नाम फूड सेक्युर्टी की फेहरिस्त में दर्ज हैं। कैबिनेट की मंजूरी के बाद अब कम-से-कम 10 फीसद नये लोगों को इसमें शामिल होने का मौका मिल जायेगा। इसके बाद रियासत के तकरीबन दो करोड़ लोगों को फूड सेक्युर्टी मंसूबा का फाइदा मिल सकेगा।

Top Stories