Monday , June 18 2018

एस पी रुक्न‌ ने वज़ीर के हाथ से कोटा बिल की नक़ल छीन ली

समाजवादी पार्टी (एस पी) के एक रुक्न‌ की अफ़सोसनाक और अजीब-ओ-गरीब हरकत ने आज लोकसभा को हैरत में डाल दिया, जिसने आज दोपहर एक वज़ीर एम वी नारायाना स्वामी के हाथ से दर्ज फ़हरिस्त तबक़ात-ओ-क़बाईल की तरक्कियों के लिए कोटा से मुताल्लिक़ बिल की नक़

समाजवादी पार्टी (एस पी) के एक रुक्न‌ की अफ़सोसनाक और अजीब-ओ-गरीब हरकत ने आज लोकसभा को हैरत में डाल दिया, जिसने आज दोपहर एक वज़ीर एम वी नारायाना स्वामी के हाथ से दर्ज फ़हरिस्त तबक़ात-ओ-क़बाईल की तरक्कियों के लिए कोटा से मुताल्लिक़ बिल की नक़ल को छीन लिया, जबके कांग्रेस की सदर सोनिया गांधी ने रुकन की इस कोशिश को नाकाम बनाने के लिए मुदाख़िलत की ।

एस पी के रुकन नगेनदेशवेर नल्ला ने आज उस वक़्त अचानक ये हरकत की जब मुमलिकती वज़ीर उमोर मुलाज़मीन वे नाराय‌ना स्वामी इस बिल को इवान में ग़ौर-ओ-बेहस के लिए पेश करने के लिए दूसरी सफ़ में वाके अपनी नशिस्त से उठ कर आगे बढ़ रहे थे ।

उस वक़्त सोनिया गांधी ने जो मामूल के मुताबिक़ पहली सफ़ में बैठें हुई थीं एस पी रुकन की कोशिश को नाकाम बनाने के लिए मदाख़िलत की लेकिन उस वक़्त तक यशवीर सिंह ने नारायण स्वामी से छीन ली गई इस नक़ल को अपने साथी रुकन नीरज शेखर के हवाले करदिया।

इस हरकत पर इवान में अफ़रातफ़री फैल गई और कांग्रेसी अरकान ने अफ़सोस-ओ-ब्रहमी का इज़हार करते हुए सोनिया गांधी की क़ियादत में इवान के वस्त तक पहूंच गए और यशवीर सिंह को रोकने की कोशिश की । इस दौरान कांग्रेस के चंद अरकान ने जिन में के बापी राजू और विलास मतेमोर भी शामिल हैं यशवीर सिंह से अमलन धींगा मुश्ती की । ये सब कुछ इस लिए हुआ कि एस पी अरकान पहले ही इवान के वस्त में थे और कोटा बिल के ख़िलाफ़ नारा बाज़ी कररहे थे ।

ताहम वज़ीर के हाथ से बिल की नक़ल छीन लिए जाने के वाक़िये पर स्पीकर मेरा कुमार ने रंजीदगी के इज़हार के साथ इवान की कार्रवाई को दिन भर के लिए मुल्तवी करदिया । क़बल अज़ीं कांग्रेस के कई अरकान भी इवान के वस्त में पहूंच गए और अपनी सदर सोनिया गांधी के अतराफ़ हिफ़ाज़ती हलक़ा बनाने की कोशिश की कीवनके नगेनदेशवेर सिंह ने वज़ीर के हाथ से नक़ल छीन लेने की कोशिश को नाकाम बनाए जाने पर सोनिया गांधी से बेहस करने लगे थे ।

कांग्रेस के चंद अरकान ने इस वाक़िये पर बी जे पी अरकान से मदद की ख़ाहिश की ताहम उन्हें कोई कामयाबी नहीं मिली । एस पी इस बिल पर इवान में दूसरी जमातों से अलग थलग होकर रह गई है।

वज़ीर पारलीमानी उमोर कमल नाथ ने इस वाक़िये की सख़्त मुज़म्मत की और कहा कि कोटा बिल्कुल इवान में पेश किया जाएगा।

TOPPOPULARRECENT