Monday , December 18 2017

एस सी, एस टी तबक़ात के तरज पर मुस्लिम मुलाज़मीन के तहफ़्फ़ुज़ पर ज़ोर

ऑल मैनारेटीज़ एम्पलॉयज़ वेलिफ़ीयर एसोसी एष्ण आंधरा प्रदेश ने मुस्लिम सरकारी मुलाज़मीन को एससी-ओ-एसटी तबक़ात के ख़ुतूत पर मुलाज़मतों में तरक़्क़ी के मुआमलात में तहफ़्फ़ुज़ फ़राहम करने, रियास्ती वक़्फ़ बोर्ड, रियास्ती अक़लीयत

ऑल मैनारेटीज़ एम्पलॉयज़ वेलिफ़ीयर एसोसी एष्ण आंधरा प्रदेश ने मुस्लिम सरकारी मुलाज़मीन को एससी-ओ-एसटी तबक़ात के ख़ुतूत पर मुलाज़मतों में तरक़्क़ी के मुआमलात में तहफ़्फ़ुज़ फ़राहम करने, रियास्ती वक़्फ़ बोर्ड, रियास्ती अक़लीयती मालीयाती कारपोरेशन, उर्दू एकेडेमी आंधरा प्रदेश और रियास्ती हज कमेटी में ख़िदमात अंजाम देने वाले आरिज़ी तमाम मुलाज़मीन की ख़िदमात को बाक़ायदा बनाने के इलावा

रियासत के तमाम सरकारी मुलाज़मीन की वज़ीफ़ा पर सुबकदोशी की हद उम्र 58 से बढ़ाकर फ़ौरी तौर पर 60 साल करने के लिए रियास्ती हुकूमत बिलख़सूस चीफ़ मिनिस्टर मिस्टर एन किरण कुमार रेड्डी से मुतालिबा किया और कहा कि मुस्लिम मुलाज़मीन सरकार के साथ हर सतह पर होने वाली नाइंसाफ़ीयों को ख़त्म करते हुए पूरा पूरा इंसाफ़ करने की रियास्ती हुकूमत से पुरज़ोर ख़ाहिश की।

आज यहां रियास्ती बहबूदी भवन (संक्शेमा भवन) में ऑल मैनारेटीज़ एम्पलॉयज़ वेलिफ़ीर एसोसी एष्ण आंधरा प्रदेश की रियास्ती आमिला का एक अहम इजलास मुनाक़िद हुआ। मिस्टर सय्यद हुसैन सदर रियास्ती ऑल मेवा ने इस इजलास की सदारत की।

इजलास से ख़िताब करते हुए सदर एसोसी एष्ण ने शोबा जात तालीम, मुलाज़मतों और सियासत में भी अक़लीयती तबक़ा के सरकारी मुलाज़मीन को कम अज़ कम 15 फ़ीसद तहफ़्फुज़ात फ़राहम करने के लिए भी इक़दामात करने का पुरज़ोर मुतालिबा किया।

उन्हों ने एससी एसटी-ओ-बी सी तबक़ात सब प्लान के ख़ुतूत पर सब प्लान मुरत्तिब करने दस हज़ार करोड़ रुपये मुख़तस करने, हुकूमत की सतह पर तशकील दी जाने वाली मुख़्तलिफ़ कमेटीयों बिलख़सूस स्लैक्शन कमेटीयों में एक अक़लीयती रुकन को भी शामिल रखने वज़ीर-ए-आज़म के पंद्रह नकाती प्रोग्राम को रूबा अमल लाते हुए रियास्ती बजट में अक़लीयतों के लिए 15 फ़ीसद रक़ूमात मुख़तस करने,

रियासत में वाक़ै तमाम वक़्फ़ जमीनात का मुकम्मल तहफ़्फ़ुज़ फ़राहम करने के लिए सख़्त इक़दामात करने का रियास्ती हुकूमत बिलख़सूस रियास्ती चीफ़ मिनिस्टर मिस्टर एन किरण कुमार रेड्डी से पुरज़ोर मुतालिबा किया। इस इजलास में मिसरस मुहम्मद जहांगीर बाबा, मुहम्मद रफ़ी उद्दीन-ओ-दीगर ओहदेदारान ऑल मेवा भी शरीक थे।

TOPPOPULARRECENT