Friday , December 15 2017

एहतेराम नहीं मिला, तो तहरीक

झारखंड आंदोलनकारी मोरचा की तरफ से 15 नवंबर तक मुजाहेरिन को क़दर करने की मांग की गयी है। ऐसा नहीं करने पर पूरे रियासत में तहरीक करने की इंतिबाह दी है।

झारखंड आंदोलनकारी मोरचा की तरफ से 15 नवंबर तक मुजाहेरिन को क़दर करने की मांग की गयी है। ऐसा नहीं करने पर पूरे रियासत में तहरीक करने की इंतिबाह दी है।

मोरचा के प्रप्रतिनिधिमंडल ने कोंवेनर मुमताज अहमद खान की कियादत में मंगल झारखंड वनांचल आंदोलनकारी निशानदेही कमीशन के सदर विक्रमादित्य प्रसाद से भी मुलाकात की। बातचीत के दौरान सदर से जानकारी मांगी गयी कि अब तक सिर्फ 1100 आंदोलनकारी की ही निशानदेही किये गये हैं, जबकि दरख्वास्त 40 हजार से ज़्यादा हैं। इस पर कमीशन के सदर ने कहा कि कमीशन की तरफ से तमाम अजला में आंदोलनकारियों की फेहरिस्त भेज कर वेरीफिकेशन कर रिपोर्ट मांगी गयी है, पर अब तक देवघर को छोड. किसी जिले के एसपी ने रिपोर्ट नहीं दी है.

कमीशन ने इस मामले में हुकूमत और डीजीपी को भी खत लिखा है। कमीशन की तरफ से मोरचा के मेंबरों से भी मदद की दरख्वास्त की गयी। इस पर मिस्टर खान ने कहा कि मोरचा के लोग सारे अजला के एसपी से मिलेंगे और वेरीफिकेशन की मांग करेंगे। इसी सिलसिले में 25 अक्तूबर को दुमका में व 30 को रांची में धरना देंगे। मिस्टर अंसारी ने कहा कि 15 नवंबर को अगर आंदोलनकारियों को एहतेराम नहीं मिलता है। जिस तरह अलग रियासत के लिए तहरीक हुआ था, उसी तरह एहतेराम देने के लिए तहरीक करेंगे। इधर बैठक की बाबत जानकारी देते हुए कमीशन के सदर विक्रमादित्य प्रसाद ने बताया कि एसपी वेरिफिकेशन नहीं कर रहे हैं।

हाल ही में वेरिफिकेशन के दौरान पता चला कि 12 लोगों ने फरजी कागजात दिया था। इनके खिलाफ कमीशन सनाह दर्ज करायेगा। जिन लोगों का किसी थाने में केस नहीं है, उनके लिए अहम आंदोलनकारियों से फेहरिस्त मांग कर वेरिफिकेशन कराया जायेगा। जरूरत पड़ने पर वह खुद जायेंगे और समितियों से बात कर सही हालात की जानकारी लेंगे। नुमायंदगी में विमल कच्छप, लाल रणविजय नाथ शाहदेव, शफीक आलम, दिवाकर साहू, दीपक कुमार बैठा, जुबैर अहमद, चिंतामणी सांगा, कुमार संजीव रंजन, अनवर खान, बंधना टोप्पो, शिव नंदन मिर्श, शम्मी परवीन व प्रदीप शर्मा भी शामिल थे।

TOPPOPULARRECENT