Saturday , November 25 2017
Home / Ahmedabad / एहसान जाफरी द्वारा की गई फायरिंग ने आग में घी का काम किया: कोर्ट

एहसान जाफरी द्वारा की गई फायरिंग ने आग में घी का काम किया: कोर्ट

अहमदाबाद शुक्रवार को कोर्ट ने गुलबर्ग सोसायटी मामले में अपना फैसला सुनाया। साथ ही स्पेशल कोर्ट के जज पीबी देसाई ने कहा कि घटना के दिन हिंसा का शिकार हुए कांग्रेस सांसद एहसान जाफरी द्वारा कराई गई प्राइवेट फायरिंग ने ही आग में घी का काम किया। कोर्ट ने 11 लोगों को उम्रकैद, 12 को 7 साल और 1 को 10 साल की सजा सुनाई है। इस हिंसा में जाफरी समेत 69 लोगों की हत्या कर दी गई थी।
कोर्ट ने कहा ’27 फरवरी, 2002 को दोपहर 1.30 बजे के बाद हालात बदतर हो गए, जैसे कि कोई नल खुला हो और उससे बाढ़ सी आ गई हो।’ कोर्ट के ऑर्डर में जिक्र है कि जाफरी की प्राइवेट फायरिंग से 15 लोग घायल मारे गए, जिससे की भीड़ और भड़क गई। गुलबर्ग सोसायटी के कई हिस्सों से बाहर जमा भीड़ पर फायरिंग की गई।

यह ऑर्डर पुलिस के गवाहों के बयान पर निर्भर है, जिसमें कहा गया है कि भीड़ ने बेकाबू होकर जाफरी के घर पर ही हमला किया, जिसमें कई बेगुनाह लोगों की जान गई। 20 पुलिसकर्मियों ने जाफरी द्वारा प्राइवेट फायरिंग की बात पर मुहर लगाई।

TOPPOPULARRECENT