ए टी एम से रक़म निकालने में एहतियात ज़रूरी

ए टी एम से रक़म निकालने में एहतियात ज़रूरी

करीमनगर 16 दिसंबर: आजकल मुख़्तलिफ़ तरीक़ों से बैंक खातेदारों के अकाउंट में बग़ैर इलम-ओ-इत्तेला रक़म निकाल ली जा रही है। इस तरह के कई एक वाक़ियात का इन्किशाफ़ हो रहा है। इस में कुछ तो खातादार की और कुछ बैंकों की लापरवाही भी है।

ज़िला एस पी ने पुलिस हेडक्वार्टर ट्रेनिंग हाल में करीमनगर के महतलफ़ बैंकों के मैनेजर ओहदेदारान के साथ मुनाक़िदा शऊर बेदारी प्रोग्राम से ख़िताब करते हुए इन ख़्यालात का इज़हार क्या। हम रिज़र्व बैंक आफ़ इंडिया से बात कर रहे हैं या मार्केटिंग ब्रांच से मॉनीट्रिंग निगरान कार शोबे से बात कर रहे हैं। आपका आधार कार्ड नंबर किया है।

किन किन ब्रांचों में अकाउंट है बैंक से अगर कुछ शिकायत है तो काए हम उस की यकसूई करेंगे या आई का ए टी एम कार्ड है क्या ? कौन से बैंक का है। इस तरह से मालूमात हासिल रुके कुछ दिन बाद अचानक फ़ोन करके कहा जाएगा कि आप ए टी एम चैक कर रहे हैं। इस में टेक्नीकी ख़राबी आगई है। नंबर बोलिए हम आर बी आई मॉनीट्रिंग ब्रांच चीफ़ एग्जीक्यूटिव ऑफीसर पी ए बात कर रहे हैं।

कहते हुए आपका नंबर दरयाफ़त करले कर अकाउंट से रुपया निकाल ले जाएंगा। इसी लिए किसी को भी कोई फ़ोन करके दरयाफ़त करने पर किसी भी किस्म का मालूमात ना दें। ए टी एम से रक़म निकालते वक़्त काफ़ी एहतियात बरतें किसी और के इलम में आपका नंबर ना आने पाए। इस सिलसिले में तमाम ए टी एम मराकिज़ में इंतेहाई मालूमाती पोस्टर्स लगाए जा रहे हैं। ध्यान से पढ़ कर इस पर अमल करें।

Top Stories