Friday , January 19 2018

ऑनलाइन क़ुर्बानी का हौसला अफ़ज़ा-ए-रद्द-ए-अमल

हैदराबाद । 15 । नवंबर : ( रास्त ) : मौजूदा मसाबकती दौर में इख़तिराई नौईयत के इसकीमात मुतआरिफ़ करते हुए अपनी मुनफ़रद पहचान बनाई जा सकती है । ऐसा ही कारनामा हुमायूँ नगर के साकिन दो भाईयों मुस्तफ़ा सय्यद और सय्यद सिद्दीक़ ने अपने वालिद मुहत

हैदराबाद । 15 । नवंबर : ( रास्त ) : मौजूदा मसाबकती दौर में इख़तिराई नौईयत के इसकीमात मुतआरिफ़ करते हुए अपनी मुनफ़रद पहचान बनाई जा सकती है । ऐसा ही कारनामा हुमायूँ नगर के साकिन दो भाईयों मुस्तफ़ा सय्यद और सय्यद सिद्दीक़ ने अपने वालिद मुहतरम जनाब सय्यद निहाल उद्दीन अहमद की सरपरस्ती-ओ-रहनुमाई में अंजाम दिया । ईद अज़हा के मौक़ा पर उन्हों ने क़ुर्बानी के जानवर को मार्कीट से मसाबकती क़ीमत में फ़रोख़त का ना सिर्फ इंतिज़ाम किया बल्कि घर तक पहुंचाने की भी सहूलत फ़राहम की ।

उन्हों ने वैब साईट simplequrbani.com शुरू की जिस के ज़रीया क़ुर्बानी के जानवर की ख़रीदी के इलावा बिलख़सूस एन आर आईज़ के लिए ज़बह करते हुए गोश्त ग़रीबों में तक़सीम करने की भी सहूलत फ़राहम की गई थी । ये स्कीम ग़ैरमामूली कामयाब रही और उसे मुअम्मर अफ़राद जो क़ुर्बानी के जानवर मार्कीट जाकर ख़रीदने के मुतहम्मिल नहीं जिन्हें मार्कीट क़ीमतों में अचानक इज़ाफ़ा की वजह से मुश्किलात का सामना करना पड़ता है और उन एन आर आईज़ ने इस वैब साईट से भरपूर इस्तिफ़ादा किया ।

मुस्तफ़ा सय्यद मुफ़ख़्ख़म जाह कॉलिज के एमबी ए कामयाब हैं जब कि सय्यद सिद्दीक़ कम्पयूटर साईंस इंजीनीयरिंग में ज़ेर-ए-तालीम हैं । उन्हों ने बताया कि क़ुर्बानी की ऑनलाइन सहूलत का अवाम ने ज़बरदस्त ख़ैर मुक़द्दम किया और दोनों शहरों से तक़रीबन तीन हज़ार कालिस मौसूल हुए । मशरिक़-ए-वुसता , अमरीका और लंदन से भी कई लोगों ने मालूमात हासिल की और इस सहूलत से इस्तिफ़ादा किया ।

उन्हों ने बताया कि बरवक़्त और मयारी ख़िदमात को अव्वलीन तर्जीह देते हुए सिर्फ 150 आरडस वसूल किए गए और उन की नुमायां ख़िदमात पर अवाम मुतमइन थे । इस वैब साईट पर इस्लामी मालूमात भी फ़राहम की गई हैं और इन दोनों भाईयों मुस्तफ़ा सय्यद ( 9885420230 ) और सय्यद सिद्दीक़ (985248005 ) ने अवाम की बेहतर से बेहतर ख़िदमात अंजाम देने के अज़म का इज़हार किया है ।।

TOPPOPULARRECENT