Monday , December 11 2017

ऑस्ट्रेलियाई कप्तान स्टीव स्मिथ भारतीय टीम से एक बार फिर दोस्ती का हाथ बढ़ाने पहुंचे

धर्मशाला : चार मैचों की हाई वॉल्टेज सीरीज की समाप्ति के बाद ऑस्ट्रेलियाई कप्तान स्टीव स्मिथ भारतीय टीम से एक बार फिर दोस्ती का हाथ बढ़ाने पहुंचे। स्टीव स्मिथ की टीम भारत से 2-1 से सीरीज हार गई। इसके बाद स्टीव स्मिथ मंगलवार को आईपीएल के अपने साथी अंजिक्य रहाणे और भारतीय टीम के अन्य खिलाड़ियों से मिलने पहुंचे और उन्होंने उन्हें बियर की पेशकश की। बता दें कि दोनों देशों के बीच चार टेस्ट मैचों की इस सीरीज में काफी कड़वाहट भी भरी रही।

हालांकि आज सीरीज की समाप्ति के बाद स्मिथ ने अपनी भावनाओं को काबू नहीं रख पाने के लिए माफी भी मांगी और मैच के बाद उन्होंने भारत के कार्यवाहक कप्तान रहाणे से संक्षिप्त बातचीत भी की। आईपीएल की टीम राइजिंग पुणे सुपरजाइंट्स के कप्तान स्मिथ ने एबीसी ग्रैंडस्टैंड से कहा, ‘मैंने (रहाणे से) कहा कि अगले सप्ताह मिलते हैं। वह आईपीएल की मेरी टीम में है।’ उन्होंने कहा, ‘मैंने उससे कहा कि क्या हम सीरीज के आखिर में उनके साथ ड्रिंक करने के लिए आ जाएं। उसने कहा वह उनसे बात करेगा। अंजिक्य के साथ हमारे अच्छे रिश्ते हैं। वह मेरी आईपीएल टीम में है और अगले सप्ताह मैं उसके साथ रहूंगा।’

ऑस्ट्रेलियाई कप्तान स्टीव स्मिथ ने भारतीय टीम के सतर्कता के साथ आक्रामकता दिखाने के रवैये की तारीफ भी की, जिससे उन्हें एक टेस्ट मैच की भिन्न परिस्थितियों को समझने में मदद मिली। स्मिथ ने कहा, ‘उन्होंने कुछ अवसरों पर आक्रामक शैली का खेल दिखाया, जबकि कई बार वे बेहद रक्षात्मक होकर खेले और मैंने भी उनसे यह सीखा। भारत में कुछ अवसरों पर आपको परिस्थितियों के हिसाब से खेलना होता है।’

इससे पहले उन्होंने चौथे टेस्ट मैच के समाप्त होने के बाद कहा था, ‘अगर आप दबाव बनाते हो और विकेट हासिल करते हो, तो चीजें बहुत जल्दी घट सकती है। मैंने खेल की इन अलग अलग परिस्थितियों में खेलने और उनसे निबटने की सीख ली। उन्होंने इंतजार किया और जब परिस्थितियां उनके अनुकूल हुईं, तो वे हावी हो गए। मुझे लगता है कि उन्होंने इसी तरह से यह सीरीज नहीं खेली।’

ऑस्ट्रेलिया की दूसरी पारी में मुरली विजय ने जब टपकाए गए कैच को सही ठहराया, तब स्मिथ ने उनको लेकर कड़ी टिप्पणी की थी। बाद में उन्होंने अपने इस व्यवहार के लिए खेद जताया था। उन्होंने कहा, ‘कुछ अवसरों पर मैं अपनी भावनाओं पर काबू नहीं रख पाया और मैं इसके लिये माफी मांगता हूं।’ ऑस्ट्रेलियाई कप्तान हालांकि सीरीज में अपने प्रदर्शन से खुश दिखे। उन्होंने तीन शतकों की मदद से 499 रन बनाए। स्मिथ ने कहा, ‘इस सीरीज में मुझे अपने प्रदर्शन पर गर्व है। मैंने खुद के लिए उच्च मानदंड स्थापित किए थे और मैं अपने प्रदर्शन से आगे बढ़कर नेतृत्व करना चाहता था।’

TOPPOPULARRECENT