Tuesday , December 19 2017

ऑस्ट्रेलिया में हिंदुस्तानी को रेप पर सज़ाए कैद माफ़

एक ख़िलाफ़-ए- मामूल केस में हिंदुस्तानी नज़ाद फ़िज़ेयो थरापिसट जो गुज़श्ता साल एक मरीज़ा को रेप करने का मुर्तक़िब पाया गया , उसे आज ऑस्ट्रेलियाई अदालत ने सज़ाए कैद से छूट देदी जबकि जज ने मुजरिम के इज़हार नदामत और तास्सुफ़ को अपने

एक ख़िलाफ़-ए- मामूल केस में हिंदुस्तानी नज़ाद फ़िज़ेयो थरापिसट जो गुज़श्ता साल एक मरीज़ा को रेप करने का मुर्तक़िब पाया गया , उसे आज ऑस्ट्रेलियाई अदालत ने सज़ाए कैद से छूट देदी जबकि जज ने मुजरिम के इज़हार नदामत और तास्सुफ़ को अपने फैसले की बुनियाद क़रार दिया । 35 साला बराथ देवदास को जनवरी 2011 में एडीलेड में वाक़े एक क्लीनिक में मरीज़ा की इस्मत रेज़ि का मुजरिम पाया गयाथा ।

ऑस्ट्रेलियन डिस्ट्रिक्ट कोर्ट जज राफ सौलियो ने आज ढाई साल की सज़ा सुनाई और बाद में इसे 5000 अमरीकी डालर के मचल्का पर 2 साला अच्छे बरताव की शर्त के साथ मुअत्तल करदिया । जज ने सज़ा-ए-को मुअत्तल करते हुए उस की बजाय 2 साल तक अच्छे बरताव का बांड पेश करने का हुक्म दिया है ।

TOPPOPULARRECENT