Sunday , December 17 2017

ओंगोल में अशरार ने मस्जिद शहीद कर दी

हैदराबाद 07 फरवरी: ज़िला प्रकाशम में ओंगोल के मौज़ा राजीव पाटम में शर पसंद अनासिर ने ख़वातीन को सामने रखते हुए एक मस्जिद को शहीद कर दिया। मुक़ामी मुसल‌मानों और जमिअतुल उल्मा हिंद आंध्र प्रदेश की नुमाइंदगी पर 12 ख़वातीन और एक मर्द को हि

हैदराबाद 07 फरवरी: ज़िला प्रकाशम में ओंगोल के मौज़ा राजीव पाटम में शर पसंद अनासिर ने ख़वातीन को सामने रखते हुए एक मस्जिद को शहीद कर दिया। मुक़ामी मुसल‌मानों और जमिअतुल उल्मा हिंद आंध्र प्रदेश की नुमाइंदगी पर 12 ख़वातीन और एक मर्द को हिरासत में ले लिया गया।

सयासी जमातों के मुक़ामी क़ाइदीन और ज़िला एस पी ने मौज़ा में बरक़रारी अमन के इक़दामात करने और मस्जिद की दुबारा तामीर और ख़ातियों के ख़िलाफ़ कार्रवाई करने का यक़ीन दिलाया। तफ़सीलात के बमूजब मौज़ा के एक मुसलमान ने 2002 में एक क़ता अराज़ी खरीदा था जहां पर 2005 से इबादतों का आग़ाज़ करदिया गया था ताहम तकरीबन देढ़ साल पहले छप्पर डाल कर मस्जिद की शक्ल दे दी गई थी। मस्जिद के क़ता अराज़ी के एक कोने पर दरख़्त था इस लिए उसे मस्जिद के अहाते से बाहर करते हुए बाढ़ उठा ली गई थी। मौज़ा में मुसलमानों के सिर्फ़ 15 मकानात हैं।

पिछ्ले बरस 19 सितंबर को मुक़ामी हिन्दुओं ने इस दरख़्त के पास गणेश मूर्ती नसब करते हुए पूजा का आग़ाज़ करदिया था ताहम मुक़ामी मुसलमानों ने सब्र-ओ-तहम्मुल का मुज़ाहरा करते हुए इस पर एतराज़ नहीं किया। पिछ्ले माह से मुक़ामी हिन्दुओं ने इस दरख़्त के पास रोज़ाना पूजा करना शुरू करदिया ।

मस्जिद की हिसारबंदी ना होने की वजह से जानवर मस्जिद में दाख़िल होरहे थे जिस पर मुक़ामी मुसलमानों ने ओंगोल में जमिअतुल उल्मा के ओहदेदारों से नुमाइंदगी करते हुए मस्जिद के लिए गेट नसब करने की ख़ाहिश की। जमिअतुल उल्मा के माली तआवुन से मुक़ामी मुसलमान मस्जिद के लिए गेट नसब कररहे थे कि गौड़ तबक़ा से ताल्लुक़ रखने वाले मुक़ामी हिन्दुओं ने मस्जिद में इबादात पर एतराज़ करते हुए एहतेजाज शुरू करदिया और रामचंद रिया की क़ियादत में एक हुजूम ने जिन में ख़वातीन की अक्सरियत थी, मस्जिद को शहीद करदिया।

मुक़ामी मुसलमानों की शिकायत पर तहसीलदार और सर्किल इन्सपैक्टर ने मौज़ा का दौरा करते हुए मस्जिद के मुक़ाम को मुतनाज़ा क़रार देते हुए उस की हदबंदी करदी और मुसलमानों को वहां इबादात करने से रोक दिया। तहसीलदार और इन्सपैक्टर पुलिस के जांबदाराना रवैया के बारे में मुक़ामी मुसलमानों ने जमिअतुल उल्मा के ओहदेदारों को आगाह किया और ज़िला कलैक्टर और ज़िला एस पी से शिकायत की। मस्जिद की शहादत की इतेला पाकर सदर रियासती जमिअतुल उल्मा-ओ-रुकन क़ानूनसाज़ कौंसिल मौलाना हाफ़िज़ पिर शब्बीर अहमद और जनरल सेक्रेटरी हाफ़िज़ ख़लीक़ अहमद साबिर ने ज़िला कलैक्टर और ज़िला एस पी से फ़ोन पर बात चीत करते हुए मुक़ामी मुसलमानों के साथ मौज़ा के अवाम की जारहीयत की शिकायत की और मस्जिद की दुबारा तामीर में तआवुन करने की ख़ाहिश की।

जमिअत के दोनों रियासती क़ाइदीन ने जमिअतुल उल्मा ओंगोल के ज़िम्मेदारों से भी ख़ाहिश की कि वो मौज़ा के मुसलमानों की रहनुमाई करें। अलावा अज़ीं मुक़ामी रुकन असम्बली वासू (वाई एस आर सी पी) और कांग्रेस एम पी सिरे निवास रेड्डी के अलावा तेलुगु देशम और दीगर पार्टियों के क़ाइदीन से नुमाइंदगी की। मुक़ामी सियासतदानों ने मौज़ा में अमन-ओ-अमान की बहाली के साथ साथ शहीद करदा मस्जिद की दुबारा तामीर करने और वहां इबादात का मौक़ा फ़राहम करने का तीक़न दिया और कहा कि वो ज़रूरत पड़ने पर अपनी निगरानी में मस्जिद को तामीर करवाएं गे। ज़िला कलैक्टर ने भी मुसलमानों को तीक़न दिया कि मस्जिद की दुबारा तामीर में रुकावट पैदा करने वालों के ख़िलाफ़ कार्रवाई की जाएगी।

TOPPOPULARRECENT