Saturday , January 20 2018

ओएलएक्स पर एड डालकर हो रही है ठगी, सामने आए दो मामले

रांची : ठगी, ठगी ही होती है, चाहे वह अामने-सामने हो या इंटरनेट पर। मुजरिम अब इंटरनेट पर भी नए तरीके खोजने लगे हैं लोगों को ठगने के। नया जरिया बनता दिख रहा है ओएलएक्स। जी हां, वही कंपनी जहां पर लोग अपना सामान बेचते या दूसरे से खरीदते हैं। इस वेबसाइट पर एड डालकर मुजरिम जरुरतमंदों को ठग रहे हैं। हाल ही में दो मामले रांची पुलिस के सामने आए हैं। मसला ये है कि पुलिस को सारी जानकारी देने के बावजूद ठग कानून के हाथाें से दूर हैं। पुलिस ने माना है कि इस वेबसाइट पर कुछ एड ठगों के भी हो सकते हैं, इसलिए लोगों को अलर्ट रहना होगा।

मुजरिम ओएलएक्स में जिस सामान को बेचने का एड डालते हैं उनकी कीमत कम रखते हैं। जब खरीदार उनसे राब्ता करता है जब ठग खुद को बड़ा आदमी बताता है। कहता है कि वह इसे बेचकर दूसरा खरीदेगा। इसलिए सस्ते में सामान बेच रहा है। फिर वह कुछ पैसा अपने एकाउंट में डालने को बोलता है। पैसा डालने पर फोन करके कहता है कि सामान भेज दिया है। थोड़ा और पैसा डालिए तो सामान आपके घर पहुंच जाएगा। उधर खरीदार को या तो सामान मिलता ही नहीं या जो पैकेट पहुंचता है उसमें कुछ नहीं होता।

पहला मामला

इमाम कोठी, कोकर के रोशन लाल ने ओएलएक्स में लैपटॉप का एड देखा था। रोशन ने दिल्ली में बैठे ठग को 5 हजार भेज दिए, लेकिन सामान नहीं आया।

दूसरा मामला

लालपुर के पीयूष ने कोलकाता के ठग को एटीएम से दो हजार रु. भेजे। ठग ने कहा-पैसे नहीं मिले। तब पीयूष को पता चला कि उसे ठगा गया है। पुलिस को कुछ नंबर मिले हैं जांच जारी है
पुलिस को ठगों के मोबाइल नंबर मिले है। कुछ दिन पहले भी लोगों को ओएलएक्स में नौकरी दिलाने के नाम पर भी ठगी का मामला सामने आया था। इन दोनों मामलों की जांच चल रही है।
जया रॉय, सिटी एसपी, रांची

TOPPOPULARRECENT