Saturday , December 16 2017

ओडिशा हाईकोर्ट के पूर्व जज ‘इशरत मसरूर कुद्दुसी’ के खिलाफ मनी लॉन्ड्रिंग का केस दर्ज

भुवनेश्वर। प्रवर्तन निदेशालय (ED) ने उड़ीसा हाईकोर्ट के रिटायर्ड जज इशरत मसरूर कुद्दुसी के खिलाफ अब मनी लॉन्ड्रिंग का केस दर्ज किया है।

पूर्व जज कुद्दुसी पर लखनऊ के एक मेडिकल कॉलेज में छात्रों के एडमिशन की अनुमति के लिए दायर याचिका की सुनवाई के दौरान फैसले के लिए पैसे लेने का आरोप है।

सीबीआई की एफआईआर के आधार पर ईडी में केस दर्ज होने से पिछले सप्ताह भूचाल आ गया था। ईडी ने 20 सितंबर को कुद्दुसी और पांच अन्य आरोपियों को गिरफ्तार करते हुए उनके ठिकानों की तलाशी ली थी।

सीबीआई और ईडी के सूत्रों के मुताबिक कुद्दुसी और अन्य आरोपियों ने ये पूरा मामला रफा-दफा करने के लिए मेडिकल कॉलेज से तीन करोड़ रुपये की मांग की थी।

जांच कर रही टीम ने तकरीबन 80 फोन कॉल्स रिकॉर्ड करने के बाद यह कार्रवाई की। सीबीआई कुद्दुसी की आवाज से इन कॉल्स का मिलान कर चुकी है।

सूत्रों के मुताबिक सीबीआई ने पूर्व जज के पास से 1.86 करोड़ रुपये समेत कुछ अन्य दस्तावेज भी बरामद किए हैं। इस समय सभी 6 आरोपी जमानत पर जेल से बाहर है। बेल मिलने के बाद से सीबीआई पूर्व जज से दो बार पूछताछ कर चुकी है।

इंडियन एक्सप्रेस की खबर के मुताबिक जांच में पता चला है कि कुद्दुसी ने आरोपी बीपी यादव से पहली किस्त का पैसा ले लिया था। इस समय उनका ‘रेट’ तीन करोड़ रुपये चल रहा था।

सीबीआई दो अन्य आरोपियों को रिमांड पर लेना चाहती है, जिससे यह पता लगाया जा सके कि मनी लॉन्ड्रिंग का यह पैसा किस माध्यम से और किस-किस को दिया गया था।

TOPPOPULARRECENT