ओबामा ने ट्रंप की अलगाववादी प्रवृत्ति की आलोचना की

ओबामा ने ट्रंप की अलगाववादी प्रवृत्ति की आलोचना की
Click for full image

अमेरिका के राष्ट्रपति बराक ओबामा ने अमेरिका और अन्य स्थानों पर अलगाववादी प्रवृत्तियों को लेकर चेताते हुए उन्हें वैश्वीकरण की असल चिंताओं से निपटने के लिए ‘गलत औषधि’ करार दिया। ओबामा ने डोनाल्ड ट्रंप के नाम का जिक्र तो नहीं किया लेकिन उन्होंने राष्ट्रपति पद के चुनाव के लिए संभावित रिपब्लिकन उम्मीदवार की ओर से कल ‘थ्री एमिगोज’ सम्मेलन में की गई व्यापार विरोधी बयानबाजी पर निशाना साधा।

ट्रंप ने अमेरिका, कनाडा और मेक्सिको के बीच हुए उत्तर अमेरिकी मुक्त व्यापार समझौते (नाफ्टा) से बाहर जाने या फिर से वार्ता करने की फिर से धमकी दी जिसके मद्देनजर ओबामा ने कल यहां एक संवाददाता सम्मेलन में कहा, ‘‘समेकित, वैश्विक अर्थव्यवस्था में हमारे लिए यह समाधान नहीं है कि हम स्वयं को दुनिया से अलग कर लें।’ ओबामा ने क्षेत्रीय सहयोग एवं मुक्त व्यापार की वकालत की और ट्रंप की अप्रत्यक्ष रूप से आलोचना करते हुए अमेरिका के साथ ‘‘हमारे पड़ोसी, हमारे मित्र’’ मेक्सिको के बीच संबंध और मजबूत बनाए जाने के पक्ष में तर्क दिए।

ओबामा ने कहा, ‘इतिहास में पहले भी ऐसा हुआ है कि जब अपने हितों के लिए जन भावनाओं को भड़काने वाले नेता प्रवासी विरोधी भावनाओं का इस्तेमाल करते रहे हैं लेकिन वे आते रहे।’ मेक्सिको के राष्ट्रपति एनरिक पेना नीतो ने भी ओबामा का समर्थन करते हुए कहा, ‘अलगाववाद प्रगति की ओर ले जाने वाला मार्ग नहीं है।’

उन्होंने जल्द ही व्हाइट हाउस की यात्रा करने संबंधी घोषणा करते हुए कहा, ‘हम पड़ोसी हैं, हम मित्र हैं। यह मित्रता मजबूत सहयोग एवं साथ मिलकर काम करने पर आधारित है।’ कनाडा के प्रधानमंत्री जस्टिन ट्रूडो ने भी इसी सुर में सुर मिलाते हुए तीनों देशों के संयुक्त प्रयासों को रेखांकित किया और इन्हें इस बात का ‘सबूत बताया कि सहयोग का लाभ मिलता है और मिलकर काम करने वाले अकेले काम करने वाले को हमेशा हरा देते हैं।’

Top Stories