Thursday , June 21 2018

ओवैसी के खिलाफ ताजीराते हिंद की मुखतलिफ गैर जमानती दफआत

हैदराबाद, 05 जनवरी:इश्तेआल अंगेज़ (भड़काऊ) तकरीर देने के इल्ज़ाम में मजलिस-ए-इत्तेहादुल मुस्लिमीन (MIM) के रुकन असेंबली अकबरुद्दीन ओवैसी पर उस्मानिया यूनिवर्सिटी थाने में भी एक मामला दर्ज कर लिया गया है।

हैदराबाद, 05 जनवरी:इश्तेआल अंगेज़ (भड़काऊ) तकरीर देने के इल्ज़ाम में मजलिस-ए-इत्तेहादुल मुस्लिमीन (MIM) के रुकन असेंबली अकबरुद्दीन ओवैसी पर उस्मानिया यूनिवर्सिटी थाने में भी एक मामला दर्ज कर लिया गया है।

इससे पहले निर्मल टाउन और निजामाबाद थाने ने ओवैसी के बंजारा हिल्स रिहायशगाह पर नोटिस चस्पा कर पूछताछ के लिए आठ और नौ जनवरी को पेश होने का हुक्म दिया है।

इस बीच अकबरुद्दीन ओवैसी जो फिलहाल मुबय्यना तौर पर इलाज के लिए लंदन में हैं, के मामले पर आंध्र प्रदेश के डीजीपी वी. दिनेश रेड्डी ने कहा कि अगर वह पुलिस के सामने पेश नहीं होते है तो हम उन्हें वापस लाने के ल‌िए इंटरपोल से भी मदद लेंगे।

ओवैसी के खिलाफ ताजीराते हिंद की मुखतलिफ गैर जमानती दफआत के तहत मामले दर्ज किए गए हैं। उनके खिलाफ मुल्क के खिलाफ जंग छेड़ने या इसकी कोशिश करने, मज़हब‍ जाती ज़ुबान की बुनीयाद पर मुखतलिफ ग्रुपों के बीच तास्सुब फैलाने और मज़हबी जज़्बातों को भड़काने या किसी मज़हब या मज़हब की तौही करने के मकसद से जानबूझ कर की गई कार्रवाई के तहत मामले दर्ज किए गए हैं।

उधर, ऑल इंडिया मुस्लिम पर्सनल लॉ बोर्ड भी इस्तेआल अंगेज़ तकरीर देने वाले MIM के मेम्बर और अदीलाबाद से मेम्बर असेंबली अकबरुद्दीन ओवैसी के खिलाफ उतर आया है। बोर्ड के मेम्बर( रूकन) मौलाना यासूब अब्‍बास ने कहा है कि ओवैसी कोई इस्‍लाम के हीरो नहीं हैं।

बल्कि वो इस्‍लाम को बदनाम कर रहे हैं। ऐसे लोगों की वजह से ही मुसलमान दहशतगर्दी की ओर जा रहे हैं।

उन्होंने कहा कि ओवैसी को मेम्बर असेंबली बने रहने का भी हक नहीं है। ऐसे लोग इस्‍लाम मज़हब के होने के बावजूद इस्‍लाम को बदनाम कर रहे हैं।

TOPPOPULARRECENT