Monday , December 18 2017

ओवैसी – तोगड़िया एक ही दिन बेंगलुरु में, पुलिस टेंशन में

महाराष्ट्र इलेक्शन में अपनी हाजिरी दर्ज कराने के बाद अब हैदराबाद की एमआईएम पार्टी कर्नाटक में एंट्री करने की कोशिश में है। एमआईएम के चीफ असदुद्दीन ओवैसी आठ फरवरी को बेंगलुरु में आवामी इजलास से खिताब कर सकते हैं।

महाराष्ट्र इलेक्शन में अपनी हाजिरी दर्ज कराने के बाद अब हैदराबाद की एमआईएम पार्टी कर्नाटक में एंट्री करने की कोशिश में है। एमआईएम के चीफ असदुद्दीन ओवैसी आठ फरवरी को बेंगलुरु में आवामी इजलास से खिताब कर सकते हैं।

इसी दिन विश्व हिंदू परिषद के लीडर प्रवीण तोगड़िया भी ‘हिंदू विराट समावेश’ प्रोग्राम से खिताब करने वाले हैं। एक ही दिन दोनों प्रोग्राम मुनाकिद होने से शहर में फिर्कावाराना तनाव के खदशे को देखते हुए पुलिस एमआईएम लीडर को इजलास की इजाजत देने के मूड में नहीं है।

एक सीनीयर पुलिस ऑफिसर का कहना है कि ‘एक कॉमर्शल स्ट्रीट पुलिस स्टेशन के एएसआई ने बिना सोचा समझे एमआईएम की मुकामी युनिट को ओवैसी की आवामी इजलास की इजाजत दी। पुलिस आफीसर ने आवामी इजलास की इजाजत देने से पहले इस बात की पड़ताल नहीं की कि इससे शहर में तनाव पैदा हो सकता है।

आला रैंक के पुलिस आफीसर ने इस मामले में पड़ताल की और ओवैसी की आवामी जलास की इजाजत को रद्द कर दिया। सीनीयर पुलिस आफीसर ने एमआईएम को आवामी इजलास के लिए कोई और दिन चुनने के लिए कहा है।’

पुलिस का कहना है कि एक ही दिन दो अपोजिशन लीडरों को आवामी इजलास की इज़ाजत ने देकर पुलिस ने एक तरह से फिर्कावाराना तनाव को टाल दिया है।

ज़राये का कहना है कि पुलिस ने इस मामले की जांच भी शुरू कर दी है कि आखिर एक एएसआई रैंक के आफीसर ने बिना सीनीयर आफीसरों से तबाद्ला ख्याल किए आवामी इजलास की इजाजत कैसे दे दी।

वहीं पुलिस हिंदू तंज़ीमों को 8 फरवरी को ‘हिंदू विराट समावेश’ के लिए इजाजत देने पर गौर कर रही है। ज़राये का कहना है कि पुलिस मंगल के रोज़ हिंदू कांफ्रेंस मुनाकिद करने की इजाजत दे सकती है लेकिन इसके साथ एक शर्त जोड़ी गई है। इस शर्त में कहा गया है प्रोग्राम में प्रवीण तोगड़िया की हाजिरी को अवॉइड किया जाए।

TOPPOPULARRECENT