ओसामा के बरादर-ए-निसबती अपनी बहन को पाकिस्तान से वापस यमन लाने कोशां

ओसामा के बरादर-ए-निसबती अपनी बहन को पाकिस्तान से वापस यमन लाने कोशां
इस्लामाबाद्, ०४ फरवरी (यू‍ एन आई) पाकिस्तान में अमरीकी कार्यवाई में हलाक हुए अल क़ायदा लीडर ओसामा बिन लादेन के बरादर-ए-निसबती ने पाकिस्तान हुकूमत से अपनी बहन को ब‍ हिफ़ाज़त इसके वतन यमन वापस भेजने की इजाज़त देने की दरख़ास्त की है।

इस्लामाबाद्, ०४ फरवरी (यू‍ एन आई) पाकिस्तान में अमरीकी कार्यवाई में हलाक हुए अल क़ायदा लीडर ओसामा बिन लादेन के बरादर-ए-निसबती ने पाकिस्तान हुकूमत से अपनी बहन को ब‍ हिफ़ाज़त इसके वतन यमन वापस भेजने की इजाज़त देने की दरख़ास्त की है।

ओसामा के बरादर-ए-निसबती यमन के शहरी ज़करियान असाद ने एक प्राईवेट टेलीवीज़न चैनल को इंटरव्यू में कल बताया कि गुज़शता 2 मई को जिस वक़्त अमेरीकी कमांडो ने एबटाबाद में वाक़िअ ओसामा की कोठी पर हमला किया था, इसकी बहन इसी मकान में थी।

कार्यवाई के दौरान इस के पैर में गोली लगी और वो बेहोश हो गई। इस के बाद वहां क्या हुआ, उसे कुछ नहीं मालूम। असद ने बताया कि इस की बहन की शादी 1999 में ओसामा से हुई थी। इन के पाँच बच्चे हैं और अमेरीकी कार्यवाई के दौरान इन के बच्चे भी वहीं थे।

दरीं असनाए अमेरीकी कार्यवाई की जांच कर रहे पाकिस्तानी कमीशन के चीफ़ जस्टिस जावेद इक़बाल ने कार्यवाई के वक़्त ओसामा की मौजूदगी के बारे में पूछे गए सवाल का जवाब देने से ये कह कर इन्कार कर दी कि पूरी जांच इसी सवाल के इर्दगिर्द घूम रही है, इसलिए इसका जवाब रिपोर्ट में ही दिया जाएगा।

Top Stories