औरंगजेब रोड के बाद अब डलहौजी रोड का नाम बदलने की तैयारी

औरंगजेब रोड के बाद अब डलहौजी रोड का नाम बदलने की तैयारी
Click for full image

नई दिल्‍ली: नई दिल्ली के साउथ ब्लॉक इलाके में पड़ने वाली डलहौजी रोड का नाम बदलकर दारा शिकोह रोड किया जाने वाला है। इसके लिए आज सुबह एनडीएमसी में एक बैठक बुलाई गई है। नई दिल्ली लोकसभा क्षेत्र की भाजपा सांसद और एनडीएमसी के सदस्य मिनाक्षी लेखी ने प्रस्ताव रखा है कि डलहौजी रोड का नाम बदलकर दारा शिकोह रोड किया जाए।

मीनाक्षी लेखी ने दलील दिया है कि चुंकि मुग़ल बादशाह शाहजहां के सबसे बड़े बेटे दारा शिकोह ने हिन्दू-मुस्लिम एकता और भाईचारे को बढ़ावा दिया दिया था और उन्होंने कला और संगीत के क्षेत्र में एक बड़ा योगदान दिया इसलिए इसका नाम बदलकर दारा शिकोह रोड किया जाए।
हालांकि आम आदमी पार्टी के नेता और दिल्ली कैंट के विधायक सुरेंद्र सिंह ने लेखी के इस प्रस्ताव का विरोध किया है। सुरेंद्र सिंह के का मानना है कि दिल्ली में जाटों कि आबादी काफी अधिक है और चारों तरफ से हरियाणा, राजस्थान और पश्चिमी यूपी है जहां जाटों की आबादी काफी अधिक है। इसलिए इस रोड का नाम बदलना है तो इन इलाकों में रहने वाले लोगों की भावनाओं का ध्यान रखते इसका नाम महाराजा सूरजमल रखा जाए।

बता दें 12 जनवरी 1996 को कनॉट सर्किल का नाम बदलकर इंदिरा चौक और कनॉट प्लेस का नाम बदलकर राजीव गांधी चौक रखा गया था। इसी तरह 26 फरवरी 2002 को कैनिंग रोड का नाम बदलकर माधवराव सिंधिया मार्ग और 28 फरवरी 2015 को औरंगजेब रोड का नाम बदलकर डॉ. एपीजे अब्दुल कलाम रोड रखा गया था।

Top Stories