कठुआ और उन्नाव गैंगरेप पर पीएम मोदी ने कहा यह बात, जानिए क्या कहा?

कठुआ और उन्नाव गैंगरेप पर पीएम मोदी ने कहा यह बात, जानिए क्या कहा?

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने शुक्रवार (13 अप्रैल) तो कठुआ गैंगरेप और हत्या के मामले को लेकर चुप्पी तोड़ी। प्रधानमंत्री ने एक कार्यक्रम में कहा कि दोषियों को बख्शा नहीं जाएगा। प्रधानमंत्री ने बिना किसी का नाम लिए कहा- ”देश के किसी भी राज्य में, किसी भी क्षेत्र में होने वाली ऐसी वारदातें, हमारी मानवीय संवेदनाओं को झकझोर देती हैं।

मैं देश को विश्वास दिलाना चाहता हूं की कोई अपराधी बचेगा नहीं, न्याय होगा और पूरा होगा। हमारे समाज की इस आंतरिक बुराई को खत्म करने का काम, हम सभी को मिलकर करना होगा।” समाचार एजेंसी एएनआई के मुताबिक इस मामले में जम्मू-कश्मीर को दो बीजेपी मंत्रियों ने इस्तीफे दे दिए हैं।

राज्य सरकार के दो मंत्री चंद्र प्रकाश गंगा और लाल सिंह ने अपने इस्तीफे दिए हैं। बता दें कि हाल ही में कठुआ गैंपरेप के आरोपियों के समर्थन में हिंदू एकता मंच की ओर से रैली निकाली गई थी, जिसमें राज्‍य के मंत्री और बीजेपी के विधायक लाल सिंह और प्रकाश चंद्र गंगा शामिल के शामिल होने को लेकर बीजेपी की किरकिरी हो रही थी।

इस घटना को लेकर सोशल मीडिया पर वीडियो भी वायरल हो रहा था, लेकिन बीजेपी ने हंगामा कटने के बाद रैली में शामिल होने की बात कबूली थी। हालांकि उन्‍होंने आठ वर्षीय की बच्‍ची के साथ सामूहिक दुष्‍कर्म और हत्‍या के आरोपियों का बचाव करने के आरोपों से इनकार किया था।

लाल सिंह ने कहा था, ‘हमने कभी किसी का समर्थन नहीं किया। बच्‍ची के साथ ज्‍यादती हुई है और ऐसा करने वालों को दंड जरूर मिलना चाहिए। वहां (सभा में) हमारी ड्यूटी लगी थी और मैं गंगाजी (जम्‍मू-कश्‍मीर में मंत्री और भाजपा विधायक प्रकाश चंद्र गंगा) के साथ गया था। लेकिन, हमारी ड्यूटी पीड़ि‍ता के विरोध में नहीं लगाई गई थी।

सभा में लोगों ने मामले की सीबीआई से जांच कराने की मांग रखी थी। मैंने उनकी मांग मैडम (मुख्‍यमंत्री महबूबा मुफ्ती) के समक्ष रखी थी, लेकिन उन्‍होंने इनकार कर दिया। बस मामला यहीं खत्म हो गया। आगे जो भी कर रही हैं, वही कर रही हैं। हम तो कुछ कर नहीं रहे हैं।’

बता दें कठुआ गैंगरेप मामले में प्रधानमंत्री की चुप्पी की खिलाफ कांग्रेस लगातार उन पर हमलावर हो रही थी। गुरुवार की रात दिल्ली के इंडिया गेट पर कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी की अगुआई में कैंडल मार्च भी निकाला गया था।

लेकिन बाबासाहेब भीमराव अंबेडकर की जयंती की पूर्व संध्या पर प्रधानमंत्री मोदी ने दिल्ली में डॉ. अंबेडकर नेशनल मेमोरियल के उद्घाटन के मौके पर कठुआ और उन्नाव मामले पर अपनी बात रखी।

कठुआ में इसी वर्ष जनवरी में आठ वर्षीय बच्‍ची के साथ कई दिनों तक गैंगरेप किया गया था और बाद में उसकी निर्मम हत्‍या कर दी गई थी। मामले में आरोपियों के खिलाफ दाखिल की गई चार्जशीट में बच्‍ची के साथ की गई निर्ममता की बात सामने आने पर देश भर में लोग उबल पड़े। कहा जा रहा है कि वकीलों ने चार्जशीट दाखिल करने जा रही पुलिस के लिए अड़चनें भी खड़ी कीं।

वहीं, कुछ हिंदूवादी संगठन आरोपियों के समर्थन में प्रदर्शन कर रहे हैं। इन लोगों ने जम्‍मू-कश्‍मीर पुलिस पर पक्षपात करने का आरोप लगाया है। मामले की सीबीआई जांच की मांग भी जोर पकड़ रही है।

Top Stories