Sunday , December 17 2017

औक़ाफ़ी जायदादों के तहफ़्फ़ुज़ और आराज़ीयात की बाज़याबी में महकमा माल का अहम रोल

स्पेशल ऑफीसर वक़्फ़ बोर्ड जनाब शेख़ मुहम्मद इक़बाल (आई पी एस ) ने आज डिप्टी चीफ़ मिनिस्टर जनाब मुहम्मद महमूद अली से मुलाक़ात की और तेलंगाना रियासत के पहले मुस्लिम डिप्टी चीफ़ मिनिस्टर के एज़ाज़ पर मुबारकबाद पेश की। जनाब महमूद अली के पा

स्पेशल ऑफीसर वक़्फ़ बोर्ड जनाब शेख़ मुहम्मद इक़बाल (आई पी एस ) ने आज डिप्टी चीफ़ मिनिस्टर जनाब मुहम्मद महमूद अली से मुलाक़ात की और तेलंगाना रियासत के पहले मुस्लिम डिप्टी चीफ़ मिनिस्टर के एज़ाज़ पर मुबारकबाद पेश की। जनाब महमूद अली के पास महकमा माल का क़लमदान है जो हुकूमत में इंतिहाई अहमीयत का हामिल है।

स्पेशल ऑफीसर वक़्फ़ बोर्ड ने तेलंगाना में औक़ाफ़ी जायदादों के तहफ़्फ़ुज़ के लिए महकमा माल के रोल की अहमीयत को उजागर करते हुए डिप्टी चीफ़ मिनिस्टर को एक तफ़सीली रिपोर्ट पेश की जिस में हुकूमत के तआवुन से औक़ाफ़ी जायदादों के तहफ़्फ़ुज़ को यक़ीनी बनाने के लिए इमकानी इक़दामात की तजवीज़ पेश की गई।

उन्हों ने वाज़ेह किया कि औक़ाफ़ी जायदादों के तहफ़्फ़ुज़ और आराज़ीयात की बाज़याबी में महकमा माल का अहम रोल है और डिप्टी चीफ़ मिनिस्टर की हैसियत से जनाब महमूद अली 10 अज़ला के ज़िला इंतेज़ामीया को इस सिलसिला में पाबंद कर सकते हैं। उन्हों ने साबिक़ में जारी कर्दा सरकारी अहकामात का हवाला दिया जिस में औक़ाफ़ी जायदादों के तहफ़्फ़ुज़ के लिए ज़िला कलेक्टर की सदारत में हर ज़िला में टास्क फ़ोर्स की तशकील अमल में लाई गई थी।

टास्क फ़ोर्स के अरकान में ज़िला सुपरिनटेन्डेन्स्ा पुलिस के इलावा रीवैन्यू और दीगर मह्कमाजात के आला ओहदेदार शामिल हैं। अहकामात के मुताबिक़ हर माह में एक मर्तबा टास्क फ़ोर्स का इजलास मुनाक़िद करते हुए औक़ाफ़ी जायदादों का जायज़ा लेना ज़रूरी है लेकिन अफ़सोस कि ज़िला हुक्काम इस जानिब तवज्जा देने से क़ासिर हैं।

जनाब महमूद अली ने यक़ीन दिलाया कि वो इन तजावीज़ का संजीदगी से जायज़ा लेंगे और ज़िला नज़्मो नस्क़ को ज़रूरी हिदायात जारी की जाएंगी। डिप्टी चीफ़ मिनिस्टर ने हुकूमत के इस मौक़िफ़ का दावा किया कि औक़ाफ़ी जायदादों का बहरहाल तहफ़्फ़ुज़ किया जाएगा और नाजायज़ क़ाबिज़ीन के ख़िलाफ़ सख़्त कार्रवाई की जाएगी।

TOPPOPULARRECENT