Friday , December 15 2017

कई गांवों में हाथियों की दहशत, एक हलाक़

झारखंड रियासत के चतरा-हज़ारीबाग इलाके के कई गांव इन दिनों हाथियों के एक झुंड की वजह से दहशत में हैं। हज़ारीबाग में सनीचर को एक सख्श की हाथियों के कुचले जाने से मौत हो गई। तकरीबन बीस की तादाद में हाथियों का एक झुंड छह अप्रैल से इन इल

झारखंड रियासत के चतरा-हज़ारीबाग इलाके के कई गांव इन दिनों हाथियों के एक झुंड की वजह से दहशत में हैं। हज़ारीबाग में सनीचर को एक सख्श की हाथियों के कुचले जाने से मौत हो गई। तकरीबन बीस की तादाद में हाथियों का एक झुंड छह अप्रैल से इन इलाकों में मौजूद है। रात के वक्त ये हाथी अक्सर गांव में घुस आते हैं और कई घरों को नुकसान पहुंचा चुके हैं। गांववालों के मुताबिक हाथियों के दहशत की खबर मुसलसल इंतेजामिया को दी जा रही है, लेकिन गांववालों की मदद के लिए कोई कारगर कदम नहीं उठाए गए हैं।

राजू के मुताबिक दो दिन देरी से इलाके का मुआयना करने आए मुक़ामी अफसरों ने मैयत के अहले खाना को 50 हज़ार मुआवज़े का वादा किया, लेकिन जिन लोगों के घर तबाह हो गए हैं उनके मुआयने या मुआवजे का कोई ज़िक्र तक नहीं है। झारखंड के इन इलाकों के लोग अपनी रोज़ी-रोटी के लिए जंगलों पर मुनहसर हैं, लेकिन हाथियों के डर से फिलहाल कोई जंगल में नहीं जा रहा है। कई गांवों में लोग आग जलाकर रातभर पहरा दे रहे हैं।

चतरा के ज़िला जंगल अफसर पीआर नायडू ने बीबीसी से बातचीत में मामले की तसदीक़ की। नायडू ने बताया, ”हाथियों की चपेट में आने से हज़ारीबाग में भी कल एक अफराद की मौत हो गई है। हमने दो अलग-अलग इलाकों में रेंजर्स की टीम तैनात की है जो हाथियों को खदेड़ रही है। हमारे पास यही एक तरीका है। ”
इस दरमियान, हाथियों का झुंड मुसलसल आगे बढ़ रहा है और गांववाले परेशान हैं कि जल्द कोई रास्ता नहीं निकाला गया तो और भी जानें जा सकती हैं।

TOPPOPULARRECENT