Monday , December 11 2017

कचरा बीनने वाली की बेटी बनी थाइलैंड ब्यूटी क्वीन

बैंकाक: थाईलैंड में कचरा बीनने वाली खातून की बेटी ने ब्यूटी क्वीन का खिताब जीतने के बाद अपना ताज अपनी मां के कदमों में रख दिया. दिल को छूने वाला वाकिया की फोटोज सोशल मीडिया पर इन दिनों वायरल हो रही हैं. 17 साल की खानिट्टा मिन्ट फासिएंग ने गुजश्ता महीने मिस अनसेंसर्ड न्यूज थाईलैंड 2015 का क्राउन जीता है.

खिताब जीतने के बाद पासायेंग सीधे थाईलैंड वाके अपने होमटाउन पहुंची और अपनी मां के कदमों में गिर पड़ीं. चमचमाता मुकुट, सिल्क की ड्रेस और हाई हील्स पहने जब पासायेंग अपने घर पहुंचीं तो उनके सामने फूलों की सेज नहीं बल्कि कूड़ों से पटे गंदे और बदबूदार कूड़ेदान थे.

आपको बता दें एशिया के कई ममालिक देशों में बड़ों के एहतेराम में उनके पैरों पर झुककर दुआएं लेने का ट्रेडिशन है.

मिन्ट ने मीडिया को बताया, ”इसमें शर्म वाली कोई बात नहीं है. वह मेरी मां है. वह ईमानदारी से अपना काम कर रही है. उन्होंने बड़ी मेहनत से मुझे पाला है.” मिन्ट के मुताबिक, वह ज़िंदगी के तईन पुर उम्मीद है. वह भी अपने खानदान की छोटी-मोटी नौकरियां करके या मां की कचरा बीनने में मदद करती रहती है.

मिन्ट को किसी ने बताया कि उसे थाईलैंड के इस ब्यूटी कॉन्टेस्ट में हिस्सा लेना चाहिए. लेकिन उसने इसे जीतने के बारे में कभी नहीं सोचा था. मिन्ट ने बताया कि जब कॉन्टेस्ट के विनर का अनाउंसमेंट हुआ, वह उसके लिए खाब जैसा था. उसने कभी नहीं सोचा था कि उस जैसी आम लड़की ब्यूटी क्वीन बन सकती है. वह जो कुछ भी है, मां की वजह से है. मिस अनसेंसर्ड न्यूज थाईलैंड 2015 कॉन्टेस्ट 25 सितंबर को हुआ था. इसमें ख्वातीन और ट्रांसजेंडर्स हिस्सा लेते हैं.

TOPPOPULARRECENT