कठुआ गैंगरेप मर्डर केस में कुछ लोगों के जिम्मेदाराना हरकतों से कानूनी कार्रवाई में कोई बाधा नहीं आएगी- महबूबा मुफ्ती

कठुआ गैंगरेप मर्डर केस में कुछ लोगों के जिम्मेदाराना हरकतों से कानूनी कार्रवाई में कोई बाधा नहीं आएगी- महबूबा मुफ्ती

कठुआ गैंगरेप और हत्या मामले में इंसाफ के लिए लोग सड़क के साथ सोशल मीडिया पर भी काफी सक्रिय हैं। इस जघन्य घटना के खिलाफ लोगों की नाराजगी का अंदाजा इस बात से लगाया जा सकता है कि जम्मू-कश्मीर की सीएम महबूबा मुफ्ती के एक फेसबुक पोस्ट पर लाखों रिस्पॉन्स दिए गए हैं और कठुआ पीड़िता के लिए इंसाफ मांगा गया है।

जम्मू-कश्मीर के कठुआ में आठ साल की बच्ची के साथ जो दरिंदगी की गई, उसके खिलाफ देश में नहीं बल्कि दुनिया भर में विरोध और गुस्सा जाहिर किया जा रहा है।

सभी को इस मामले में इंसाफ चाहिए और दोषियों के लिए कड़ी से कड़ी सजा। जम्मू-कश्मीर की मुख्यमंत्री महबूबा मुफ्ती ये कह चुकी हैं कि वे न सिर्फ कठुआ पीड़िता को न्याय दिलाएंगी बल्कि ये भी तय करेंगी कि इस मामले में दोषी लोगों को ऐसी सजा हो, जो एक सबक बने।

कठुआ पीड़िता के लिए इंसाफ को लेकर सीएम महबूबा ने 12 अप्रैल को एक फेसबुक पोस्ट किया। महबूबा ने इस पोस्ट में लिखा, ‘कुछ लोगों की बयानबाजी और गैर जिम्मेदाराना हरकतों से कानूनी कार्रवाई में कोई बाधा नहीं आएगी। कठुआ केस की जांच फास्ट ट्रैक पर है और इस मामले में इंसाफ होगा।

सीएम महबूबा मुफ्ती के इस पोस्ट पर देश भर से लोगों ने कमेंट किया और न्याय की गुहार लगाई। सीएम महबूबा के इस फेसबुक पोस्ट को 1950 फेसबुक यूजर्स ने शेयर किया और इस पर 20 हजार से ज्यादा लोगों ने रिएक्ट किया।

इस पोस्ट के कमेंट बॉक्स में करीब 1.8 लाख रिस्पॉन्स में कठुआ केस की पीड़ित बच्ची के लिए इंसाफ मांगा गया है। इनमें से ज्यादातर कमेंट मलयालम में हैं।

जम्मू-कश्मीर के कठुआ में इस 10 जनवरी को एक आठ साल की बच्ची का अपहरण किया गया। इसकी शिकायत बच्ची के पिता ने 12 जनवरी को पुलिस से की और एक हफ्ते बाद बच्ची का शव पास के जंगल में मिला।

क्राइम ब्रांच की जांच से पता चला कि इस बच्ची को नशीली दवाएं दी गईं और कई बार गैंगरेप किया गया। इसके बाद बच्ची की हत्या कर दी गई।

Top Stories