Wednesday , August 15 2018

कठुआ मामले में हाई कोर्ट ने सरकार को भेजा नोटिस

कश्मीर उच्च न्यायालय ने कठुआ में हुए बलात्कार और हत्या के मामले में एक आरोपी पुलिसकर्मी द्वारा अपनी बर्खास्तगी को चुनौती देते हुए दायर की गयी याचिका पर आज राज्य सरकार को नोटिस जारी कर दो हफ्ते के भीतर जवाब देने को कहा।

उच्च न्यायालय के न्यायाधीश न्यायमूर्ति एम के हंजुरा ने बर्खास्त कांस्टेबल तिलक राज द्वारा दायर याचिका पर दलीलें सुनने के बाद राज्य के मुख्य सचिव और पुलिस महानिदेशक को नोटिस जारी किया।

सरकार ने राज के अलावा उप निरीक्षक आनंद दत्ता और दो विशेष पुलिस अधिकारियों (एसपीओ) दीपक खजुरिया एवं सुरेंद्र वर्मा को आठ साल की लड़की के बलात्कार एवं हत्या में उनकी कथित संलिप्तता के लिए सेवा से बर्खास्त कर दिया। जनवरी में कठुआ जिले के एक वन क्षेत्र में एक लड़की का शव बरामद हुआ था। उससे एक हफ्ते पहले पीड़िता का अपहरण हुआ था।

उपनिरीक्षक और कांस्टेबल पर दोषियों को बचाने के लिए पैसे लेकर महत्वपूर्ण सबूत नष्ट करने का आरोप है। बचाव पक्ष के वकील ए के साहनी ने कहा , ‘‘ हमने चार आधारों पर मेरे मुवक्किल राज की बर्खास्तगी के आदेश को चुनौती दी है। इनमें आरोपी को कोई नोटिस जारी ना किया जाना , कोई जांच ना होना और आदेश का भेदभावपूर्ण होना शामिल हैं। ’’

वकील ने बताया कि दलीलें सुनने के बाद न्यायमूर्ति हंजुरा ने संबंधित पक्षों को नोटिस जारी किए और उनसे दो हफ्ते में जवाब देने को कहा।

उन्होंने कहा कि सरकार से जवाब मिलने के बाद सुनवाई की अगली तारीख तय की जाएगी। साहनी ने कहा कि उन्होंने बर्खास्तगी के आदेश पर तत्काल रोक लगाने और उसे तत्काल रद्द करने की मांग की।

TOPPOPULARRECENT