कनिमोझी ने अरुण जेटली को आभार व्यक्त किया, पर क्यों?

कनिमोझी ने अरुण जेटली को आभार व्यक्त किया, पर क्यों?
Click for full image

भाजपा में यह भी व्यापक विचार रहा कि उसका 2जी मामले में कोई हाथ नहीं। यह कांग्रेस पार्टी की विफलता ही थी जिसने अपने सहयोगियों की मदद नहीं की और यहां तक कि मनमोहन सिंह ने प्रधानमंत्री के पद पर रहते हुए ए. राजा को दरकिनार कर दिया था और पुलक चटर्जी तथा कुट्टि नायर जैसे पी.एम.ओ. अधिकारियों पर समूचे घोटाले का दोष थोपा था। विनोद राय को मनमोहन सिंह सरकार ने ही कैग नियुक्त किया था।

भाजपा ने इसी बीच घोटाले का पूरा फायदा उठाया और उसकी बदौलत ही वह 2014 में केंद्र में सत्तारूढ़ हुई। द्रमुक की दयनीय स्थिति के लिए भाजपा को कैसे दोष दिया जा सकता है, जेटली ने कनिमोझी से यह पूछा। वास्तव में मोदी सरकार जब से सत्ता में आई उसने 2जी मुकद्दमे में नरम रुख अपनाया। कारण यह कि सी.बी.आई. द्वारा घोटाले में 2012 में दाखिल किए गए आरोप पत्र में किसी कांग्रेसी नेता का नाम नहीं था जबकि यह तत्कालीन प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह के तहत थी। कांग्रेस ने अपने नेताओं और पी.एम.ओ. को बचाया तथा सारा दोष द्रमुक पर थोप दिया।

Top Stories