Sunday , December 17 2017

कब्रिस्तान की दीवार गिराने से तनाव, गांव में पीएसी तैनात

गांव उदयपुर में एक फिरके के लोगों ने कब्रिस्तान की निर्माणा हो रही दीवार गिरा दी। इस घटना से गांव में तनाव जैसी स्तिथि पैदा हो गई ।मंगलवार को कब्रिस्तान में मिट्टी का भराव चल रहा था। इलज़ाम  है कि इस बीच गांव के दूसरे समुदाय के लोगों ने मौके पर पहुंचकर निर्माण का विरोध करना शुरू कर दिया। समझाने के बावजूद उनका गुस्सा शांत नहीं हुआ।आरोप है कि इन लोगों ने निर्माणाधीन दीवार को गिरा दिया, जिससे गांव में विवाद की स्थिति पैदा हो गई। इस सुचना से  पुलिस को आवगत कराया गया जिसके बाद गांव में शांति व्यवस्था बनाए रखने के लिए पीएसी तैनात कर दी है। एसडीएम के हस्तक्षेप के बाद बुधवार को दोनों समुदाय की बैठक हुई समस्या का हल करा दिया गया। पत्रिका के अनुसार विवाद के सुलझाने के बाद कब्रिस्तान की बाउंड्री का निर्माण शुरू करा दिया गया है।इस गांव की प्रधान ताहिरा खातून , बाबू, डा. उस्मान, रहमत आदि ने बताया कि उनके गांव में सरकार की ओर से कब्रिस्तान की जमीन पर बाउंड्री हो रही है। इसका निर्माण कराने से पहले राजस्व विभाग की टीम ने गांव में आकर कब्रिस्तान की जमीन को हदबंदी कर दी थी।

एसओ प्रेमचंद शर्मा का कहना है कि गांव में पूरी तरह से शांति व्यवस्था कायम है। इसलिए पुलिस की ओर से गांव में किसी समुदाय के लोगों के खिलाफ निरोधात्मक कार्रवाई तक नहीं की गई है। पुलिस स्तर से कोई कार्रवाई नहीं की जा रही है।उधर, अतर सिंह, अमर सिंह, दिनेश कुमार, सुमंत सिंह ने बताया कि वह केवल गांव के पानी की निकासी के संबंध में बातचीत  कर रहे थे। क्योंकि गांव का पानी उसी ओर से जंगलों में जाता है। इसी बात से गैर समुदाय के लोगों में गुस्सा फूट पड़ा और उन्हें नीचा दिखाने के मकसद से  बाउंड्री चाहरदीवारी को गिरा दिया।उनमें से ही एक युवक दीवार को गिरा बता वीडियो क्लीपिंग बनाने लगा, जिससे लोगों में नाराजगी फैल गई थी। इस घटना  की जानकारी एसडीएम और सीओ को दी गई। एसडीएम राजस्व विभाग की टीम के साथ गांव में पहुंचे और दोनों समुदायों के लोगों को बैठाकर सांप्रदायिक सौहर्द के बीच वार्ता की। उनकी समस्या का हल करा दिया।

 

TOPPOPULARRECENT