Friday , January 19 2018

कमसिन बच्ची और बुजुर्ग महिला पर सनगबारी का आरोप हास्यास्पद: नेशनल कांफ्रेंस

श्रीनगर: जम्मू-कश्मीर की सबसे बड़ी विपक्षी पार्टी नेशनल कांफ्रेंस ने कश्मीर घाटी की मौजूदा स्थिति को बेहद मिलावट और चिंताजनक करार देते हुए कहा है कि शासकों ने सुरक्षा बलों को खुली छूट दे रखी है और जनता के खिलाफ युद्ध छेड़ दी गई है, जनता के जान-माल की रक्षा और कानून व्यवस्था के रखवालों ने लोगों का जीना दूभर कर दिया है और शक्ति के बेतहाशा इस्तेमाल और मानवाधिकार सबसे खराब पामालयों का दायरा हर दिन बीतने के साथ व्यापक होता जा रहा है, जबकि जमीनी स्तर पर सरकार और मंत्रियों का कहीं नामोनिशान नहीं।

पार्टी के एक प्रवक्ता ने कहा कि नेशनल कांफ्रेंस के महासचिव अली मोहम्मद सागर ने मंगलवार को यहां पार्टी मुख्यालय नवाए सुबह एक आपात बैठक को संबोधित करते हुए कहा कि सरकार की अक्षमता और गैर गंभीर हालात बद से बदतर होते जा रहे हैं और सरकार मंत्रियों का कहीं नामोनिशान नहीं।

महज 2 दिन में 32 से अधिक नागरिकों की मौत और 900 से अधिक के घायल होने से बखूबी अंदाजा लगाया जा सकता है कि कानून व्यवस्था की स्थिति से निपटने के लिए किस हद तक बेतहाशा शक्ति का इस्तेमाल किया गया है। उन्होंने कहा कि मृतकों में दमहाल हानजी पुरा के जवान वर्षीय सुंदरी यासमीन अख्तर और घायलों में कमरवारी 5 वर्षीय बच्ची जोहरा मजीद और बज बहाड़ह की 80 वर्षीय बुजुर्ग महिला सहित कई महिलाओं का शामिल होना सरकार के दावों की पोल खोल देती है, जो सरकारी प्रवक्ता के अनुसार गंभीर पथराव, आतिशज़नी और हथियार छीनने के प्रयासों की प्रतिक्रिया में सेना मजबूरन गोलियां चला रहे हैं।

TOPPOPULARRECENT